भोपाल।

प्रदेशभर में आज बीजेपी और काग्रेंस दोनों ही किसानों के मुद्दे पर आंदोलन कर रही है।कांग्रेस सरकार अपने प्रदर्शन में  केंद्र को दोष दे रही है तो बीजेपी कर्जमाफी, किसानों की ओला वृष्टि से खराब हुई फसलों का मुआवजा ना मिलने को मुद्दा बना रही है।बीजेपी के प्रदर्शन पर हमला बोलते हुए उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को चुलूभर पानी में डूब मरने की सलाह दे डाली।

जीतू ने कहा कि आज बीजेपी पूरे प्रदेश में घडियाली आंसू बहा रही है।बीजेपी नेता शिवराज सिंह चौहान यह बताएं कि किसान तो आपके लिए भगवान थे, फिर किसानों पर कर्जा चढ़ा कैसे।आखिर किसानों को कर्ज लेना पड़ा यह नौबत आई ही क्यों ।15 हजार किसानों ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज के कार्यकाल के दौरान आत्महत्या की है। आपके विधायक किसानों को लेकर विवादित बयान देते रहते है।बिजली बिल वसूली के नाम पर किसानों का लज्जित किया जाता था।घरों के बाहर से मोटरसाइकिल उठा ली जाती थी। आपके भाषण जरूर बढ़िया होते थे, लेकिन आपने किसानों को ठगा है। शिवराज सिंह आप चुलू भर पानी मे डूब मरो।आप चाहतें हैं कि किसानों का भला न हो।किसान आपको समझ गया है,क्योंकि किसान अब जागरूक है वो आपको आगे भी सबक सिखाता रहेगा।

जीतू ने कहा कि कांग्रेस सरकार अपने वचन के लिए कटिबध है हमने किसानो के बिजली के दाम कम किये हैं…मंडी में उसको परेशानी न हो इसका नियम लेकर आये…कर्जमाफी की। हमारा उद्देश्य किसानों की क्रय शक्ति को बढ़ाना था। मैं बीजेपी के नेताओं को बताना चाहता हूं।आज हम केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे है।जीतू ने आगे कहा कि हैरानी की बात है कि बिहार,तमिलनाडु का प्रतिवेदन मध्यप्रदेश के प्रतिवेदन के बाद गया लेकिन उनको राहत राशि जारी कर दी गयी, लेकिन अब तक मध्यप्रदेश को राहत राशि नहीं दी गयी। अब क्यों शिवराज सिंह चौहान नरेंद्र मोदी से बात नहीं करते।