JP To MP BJP – पिता के टिकट पर पुत्र उत्तराधिकारी नहीं, कार्यकर्ता टिकट के असली हकदार

मध्य प्रदेश के हर जिले में नेताओं के पुत्र विभिन्न प्रकार के चुनावों में टिकट की दावेदारी कर रहे हैं।

भोपाल,डेस्क रिपोर्ट। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) इस समय मध्यप्रदेश के दौरे पर है, यह दौरा ऐसे समय पर हो रहा है, जब MP में त्रिस्तरीय पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव का बिगुल बज चुका है, ऐसे में उनके दौरे को सियासी तौर पर काफी अहम माना जा रहा है। साथ ही मध्यप्रदेश में आगामी 2023 विधानसभा चुनाव के रोडमैप पर पार्टी के पदाधिकारियों से भी चर्चा करेंगे।

यह भी पढ़े..Goa Board 10th Result : जारी हुआ गोवा बोर्ड कक्षा 10वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर आए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि “आज मध्यप्रदेश के उन सभी नेताओं के सपनों पर पानी फेर दिया। जो अपने बच्चों या परिवार के लिए टिकट की आश लगाए हुए बैठे थे, उन्होंने साफ तौर पर कहा कि कोई भी निर्वाचन क्षेत्र किसी नेता की जागीर नहीं, जो पिता के टिकट पर पुत्र का उत्तराधिकार नहीं रहेगा।” साथ ही कहा कि चुनाव में हार मंजूर मगर वंशवाद नामंजूर हैं।

यह भी पढ़े..Dharm Tips : हर हफ्ते बस दो दिन करें ये उपाय, धन धान्य से भरपूर होगा घर, बना रहेगा मां लक्ष्मी का आशीर्वाद 

सभा को संबोधित करते हुए नड्डा ने पीएम मोदी की बात को सभी के सामने रखी और स्पष्ट तौर पर कहा कि पिता के बाद बेटे को टिकट देने के वंशवाद पर रोक लगाई जाए। लीडर पुत्रों को साधुवाद लेकिन सभी जान लें कि टिकट तो कार्यकर्ताओं को ही मिलेगा। अगर परिवारवाद को आगे बढ़ाते तो हिमाचल प्रदेश और मप्र की दो सीटों पर चुनाव जीत जाते लेकिन हमने हार स्वीकारी।

यह भी पढ़े..NEET PG 2022 Result Out : 10 दिन के अंदर घोषित हुए रिज़ल्ट, मंत्री ने की NBEMS की तारीफ

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि परिवार में पिता के बाद बेटा उसकी जगह ले, इसे रोका जाए। कार्यकर्ता और समाज के लोग इस विषय को उठाते रहते हैं। निकाय चुनाव में भी यह प्रिंसिपल लागू होगा। उपरोक्त के अलावा मध्य प्रदेश के हर जिले में नेताओं के पुत्र विभिन्न प्रकार के चुनावों में टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। कुछ तो पिछले चुनाव लड़ भी चुके हैं।