नया प्रयोग: सेंट्रल जेल में पहली बार खेली जायेगी “जेपीएल ” , सोमवार को शुभारंभ

ग्वालियर। अतुल सक्सेना।

अपने अपराधों की सजा काटने के लिए जेल की चार दीवारी में कैद बंदियों को एक अच्छा माहौल देने के लिए जेल प्रशासन नया प्रयोग करने जा रहा है। ये है जेल प्रीमियर लीग क्रिकेट प्रतियोगिता, जिसका शुभारंभ सोमवार को होगा। जेल महानिदेशक (डीजी) संजय चौधरी के प्रयासों से जेलों में नए प्रयोग किए जा रहे हैं। जिससे कैदियों में भी बदलाव आ सके। ऐसे ही प्रयास प्रदेश की अन्य जेलों में भी किए जा रहे हैं। भोपाल जेल में भी कैदियों का बैंड धूम मचा रहा है।

ग्वालियर सेंट्रल जेल 3 फरवरी से 9 फरवरी तक पहली बार जेल प्रीमियर लीग “JPL” 2020 क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन कर रहा है। प्रतियोगिता का शुभारंभ सोमवार को होगा। जेल अधीक्षक मनोज कुमार साहू के मुताबिक सेंट्रल जेल के क्रिकेट मैदान पर सेंट्रल जेल में बंद बंदियों की 5 टीमें मैदान में उतरेंगे वही जेल प्रशासन की ओर से एक टीम इस लीग में भाग लेगी। जिसमें वे खुद खेलने वाले हैं।

जेल सुप्रिडेंट का कहना है कि बंदियों के मनोरंजन के साथ साथ जेल में बंद बंदियों में खेल भावना और आपसी भाईचारा जागृत हो इस उद्देश्य को लेकर क्रिकेट मैच का आयोजन पहली बार जेल परिसर में किया जा रहा है। क्रिकेट मैच खेलने के लिए बंदियों में काफी उत्साह है। इस आयोजन में कोई भी बाहरी व्यक्ति या बाहरी टीम शामिल नहीं की गई है । पूरे आयोजन का जिम्मा जेल प्रशासन उठा रहा है। बहरहाल क्रिकेट प्रतियोगिता रोमांचकारी रहने वाली है और पहली बार क्रिकेट के मैदान पर बंदी और जेल कर्मी एक दूसरे को पछाड़ने का प्रयास करेंगे।