मोदी सरकार के अंतरिम बजट पर नाथ का वार, “चुनावी बजट, जुमला व छलावा साबित होगा”

4771
Kamal-Nath-attack-on-Modi's-last--budget

भोपाल। मोदी सरकार ने अपना अंतरिम बजट पेश कर दिया है। बजट में किसानों, महिलाओं, युवाओं और कर्मचारियों को बड़ी सौगात दी गई है। जहां  2 हेक्टेयर तक की जमीन वाले किसानों के खाते में सीधे 6 हजार रुपए देने की घोषणा की गई।इनकम टैक्स में बड़ी राहत देते हुए 5 लाख तक के टैक्स पर छूट दी गई है। वही महिलाओं और युवाओं के लिए भी कई बड़े ऐलान किए गए है। इस बजट का जहां बीजेपी ने स्वागत किया है वही कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने इसे छलावा बताया है। इसी बीच एमपी की कमलनाथ ने इसे जुमला और छलावा करार दिया है।

 मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि ‘आज पेश आम बजट पूरी तरह से चुनावी बजट होकर जुमला व छलावा साबित होगा।मोदी सरकार के इस आख़री बजट से भी अच्छे दिन की उम्मीद ख़त्म हो गयी। कार्यकाल के अंतिम समय में किसान,गरीब , मज़दूर,गौमाता की याद आयी। किसानो के लिये घोषित राशि ऊँट के मुँह में ज़ीरा के समान है’। वही कमलनाथ सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने ट्वीट कर कहा है कि देश की अर्थव्यवस्था को तबाह करने वाली सरकार का आखिरी बजट, इसके बाद देश की जनता इनको दिखायेगी बाहर का रास्ता, शुरुआत मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से हो चुकी है..।

2019 से सम्पूर्ण मध्यम वर्ग को लाभ होगा-शिवराज

शिवराज ने इस बजट का स्वागत करते हुए कहा है कि पीएम मोदी को बहुत धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने किसान हित में आजतक का सबसे बड़ा क्रांतिकारी फैसला किया है। 5 एकड़ के किसानों के खाते में 6 हजार रुपये हर साल डाले जायेंगे। इस फैसले के लिए मैं प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन व वित्त मंत्री जी को धन्यवाद देता हूं। उन्होंने कहा कि पीएम ने मध्यम वर्ग को इतनी बड़ी राहत दी है,जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की थी। 5 लाख पर अब कोई आयकर नहीं और इसमें बचत करने पर 6.5 लाख तक कोई टैक्स नहीं देय होगा। मध्यम वर्ग को राहत देने वाला यह क्रांतिकारी फैसला है। इस फैसले का स्वागत करता हूं। उन्होंने कहा कि पीएम का मैं अभिनंदन करता ह��ं। वितमंत्री पीयूष गोयल जी को धन्यवाद देता हूं कि देश का सबसे क्रांतिकारी जनता का बजट आज संसद में पेश किया गया। सभी वर्गों के कल्याण और खासकर आयकर में राहत देने वाले इस बजट2019 से सम्पूर्ण मध्यम वर्ग को लाभ होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here