kamal-nath-left-his-bungalow-after-8-months-and-shifted-to-cm-house

भोपाल। लंबे इंतजार के बाद आखिरकार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ सीएम हाउस में शिफ्ट हो गए है। मुख्यमंत्री बनने के 8 महीने बाद कमलनाथ इस बंगले में शिफ्ट हुए है। कमलनाथ ने शिफ्ट होने के पहले यहां पूजा पाठ करवाई। अभी तक सीएम कमलनाथ सांसद के तौर पर आवंटित बंगले में रह रहे थे, वही से उनके कामों को संचालन किया जा रहा था।नए बंगले में वास्तुशास्त्र के हिसाब से कई बदलाव किए गए है और कई नए कक्ष भी बनाए गए है।

दरअसल, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री का शासकीय आवास राजधानी के श्यामला हिल्स की खूबसूरत वादियों में स्थित है। अंग्रेजों के जमाने में निर्मित इस हेरिटेज भवन की लोकेशन देखते ही बनती है। भवन के कमरों में से बड़े तालाब का दृश्य नजर आता है। हालांकि 110 साल पुराना भवन जर्जर हो गया था कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद श्यामला हिल्स पर बने सीएम आवास को लोक निर्माण विभाग ने असुरक्षित घोषित कर दिया था। प्रमुख अभियंता आरके मेहरा की टीम ने 6 फरवरी को मुख्यमंत्री निवास का निरीक्षण कर रहने योग्य नहीं होने की रिपोर्ट दी थी।जिसके बाद मुख्य सचिव ने दिल्ली की वी-डिजाइन कंपनी के इंजीनियर अनिल सिंह व आर्किटेक्ट नवीन जिंदल से निरीक्षण कराया। और उन्होंने पीडब्ल्यूडी की रिपोर्ट पर सहमति जताई ।

 इसके बाद सीएम हाउस का रिनोवेशन का काम शुरु किया गया, जो करीब आठ महिने बाद अब खत्म हुआ है। इसी के साथ 9  अगस्त को सीएम कमलनाथ वहां शिफ्ट हो गए। रिनोवेशन के दौरान सीएम हाउस में पहले से कई अहम बदलाव वास्तु शास्त्र के तहत करवाए गए है। बंगले में कमलनाथ के कक्ष से सटा हुआ एक स्टाफ कक्ष बनाया गया है। सचिव और सहायकों के लिए अलग कैबिन बनाए गए हैं। वहीं 75 लोगों की क्षमता वाला नया मीटिंग हॉल बनाया गया है। सीएम हाउस में प्रमुख सचिव, सचिव के साथ एसपी, ओएसडी के भी कैबिन अलग से बनाए गए हैं। वीडियो सर्विलांस सुविधा के साथ सिक्योरिटी ऑफिस और रूम बनाया गया है। सीएम हाउस में अलग से एक जन शिकायत कक्ष भी बनाया गया है। वहीं वीवीआईपी, वीआईपी और आम लोगों के लिए तीन अलग-अलग वेटिंग रूम बनाए गए हैं।

आठ महीने बाद अपना बंगला छोड़ सीएम हाउस में शिफ्ट हुए कमलनाथ