पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अधिकारियों-कर्मचारियों को याद दिलाये उनके कर्तव्य, पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कड़े संघर्ष के लिए तैयार रहें

Atul Saxena
Published on -
Kamal Nath MP Election 2023

MP Election 2023 : बालाघाट में स्ट्रांग रूम खोले जाने के बाद डाक मतपत्रों की गिनती का कथित वीडियो वायरल होने के बाद प्रदेश की सियासत में भूचाल आ गया है, कांग्रेस इसे लेकर हमलावर है और जिला निर्वाचन अधिकारी/कलेक्टर पर कार्रवाई की मांग को लेकर निर्वाचन आयोग में शिकायत भी कर चुकी है अब पूर्व मुख्यमंत्री एवं पीसीसी चीफ कमलनाथ ने अधिकारियों कर्मचारियों को उनके कर्तव्य याद दिलाये हैं।

कमलनाथ का ट्वीट – पारदर्शिता और कर्तव्यनिष्ठा लोकतंत्र के बुनियादी उसूल हैं

कमलनाथ ने ट्वीट किया – “पारदर्शिता और कर्तव्यनिष्ठा लोकतंत्र के बुनियादी उसूल हैं। कल बालाघाट में डाक मतपत्रों को जिस तरह से खोला गया, वह गंभीर कदाचरण है। उसके बाद सरकारी मशीनरी और जिम्मेदार अधिकारियों ने जिस तरह से इस कृत्य को सही साबित करने की कोशिश की, वह और भी अक्षम्य अपराध है। मैं चुनाव प्रक्रिया में शामिल सभी अधिकारी और कर्मचारियों को याद दिलाना चाहता हूं कि इस समय वह निर्वाचन आयोग के अंतर्गत कार्य कर रहे हैं, जो मध्य प्रदेश सरकार से अलग एक स्वायत्त संस्था है।

पार्टी चीफ की कार्यकर्ताओं से अपील – कड़े संघर्ष के लिए तैयार रहें 

उन्होंने शासकीय सेवकों को याद दिलाया कि वे इस समय किसी पार्टी या मंत्री के मातहत काम नहीं कर रहे हैं। इसलिए सभी अधिकारी कर्मचारियों से निवेदन है कि वह किसी भी असंवैधानिक या गैरकानूनी आदेश का पालन न करें और सिर्फ वही कार्य करें जो करना उनका प्रशासनिक दायित्व है। एक-एक अधिकारी और कर्मचारी की कार्यप्रणाली की रिपोर्ट जनता के पास है। मैं कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से भी आग्रह करता हूं कि वह अपने संवैधानिक अधिकारों के लिए कड़े से कड़े संघर्ष के लिए तैयार रहें। 3 दिसंबर को मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार पर जनता की मोहर लग जाएगी। इसलिए वे निर्द्वंद्व होकर अपने कार्य में जुट जाएं। सत्यमेव जयते।”

बालाघाट के वीडियो ने चढ़ाया प्रदेश का सियासी पारा 

आपको बता दें कि कल बालाघाट में दिन में 3 बजे स्ट्रांग रूम खोला गया और डाक मतपत्रों के बण्डल बनाये जा रहे थे, डाक मतपत्रों की गिनती की खबर लगते ही स्थानीय कांग्रेस नेता शफकत खान वहां पहुँच गए उनके साथ अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता भी थी किसी ने इस पूरी प्रक्रिया का और वहां मौजूद शासकीय सेवकों का वीडियो बना लिया और वायरल कर दिया, कांग्रेस इसपर कार्रवाई की मांग कर रही है उधर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी पूरे घटनाक्रम की जानकारी बुलवाई है, बहरहाल मतगणना से पहले इस तरह का वीडियो सामने आना कांग्रेस की शंकाओं को सही साबित करने की तरफ इशारा कर रहा है और उसके आरोपों को और ताकत दे रहा है।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News