कमलनाथ का खुलासा, दिग्विजय के झूठे आश्वासन के चलते गई सरकार

भोपाल| पूर्व मुख्यमंत्री (former chief minister) और कांग्रेस (congress) के प्रदेश अध्यक्ष (State President) कमलनाथ (kamalnath) ने सरकार जाने का सबसे बड़ा कारण पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव (General Secretary) दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) द्वारा जताये गये झूठे विश्वास को बताया है, जिसमें दिग्विजय ने कहा था कि सरकार को कोई खतरा नहीं और विधायक कहीं नहीं जाएंगे।

दरअसल ऑपरेशन लोटस वन के दौरान जिस तरह से विधायकों की वापसी हुई थी उससे कमलनाथ आश्वस्त हुए थे कि अब सरकार को कोई खतरा नहीं और वह 5 साल पूरे करेगी। लेकिन उसके बाद जिस तरह से सिंधिया समर्थक विधायकों के साथ कुछ दिग्विजय समर्थक भी बेंगलुरु के लिए रवाना हो गए, एक बार फिर सरकार पर खतरे के बादल मंडराने लगे | लेकिन अगर कमलनाथ की मानें तो उस समय दिग्विजय ने उन्हें फिर आश्वासन दिया कि सरकार कहीं नहीं जाने वाली और विधायक पार्टी नहीं छोड़ेंगे। क्योंकि दिग्विजय सिंह कमलनाथ सरकार को बनाए रखने में एक बड़ी भूमिका निभा रहे थे| इसलिए उनके ऊपर कमलनाथ ने विश्वास किया और एक बार फिर दिग्विजय बंगलुरु गए। लेकिन वे विधायकों को मनाने में असफल रहे और अंततः कमलनाथ की सरकार गिर गई और बीजेपी ने सरकार बना ली।

एक निजी चैनल के ट्वीट में खुद कमलनाथ ने इस बात का खुलासा किया है कि दिग्विजय के झूठे आश्वासन के चलते, कि विधायक कहीं नहीं जाएंगे, उनकी सरकार चली गई। राजनीतिक हलकों में अब इसके अलग मायने निकाले जा रहे हैं और यह माना जा रहा है अब कमलनाथ पुरानी गलतियों को नहीं दोहराना चाहते जो सरकार रहते हुए हुई थी।