कमलनाथ का बड़ा आरोप – चिरायु अस्पताल की लापरवाही से हुई कांग्रेस विधायक की मौत

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) में उपचुनाव (By-election) से पहले कांग्रेस पार्टी (Congress Party) को एक बड़ा झटका लगा है। राजगढ़ जिले (Rajgarh District) के ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी (Congress MLA Govardhan Dangi) का कोरोना (Corona) के उपचार के दौरान निधन (Death) हो गया है। उनका दिल्ली के मेदांता अस्पताल (Medanta Hospital) में इलाज चल रहा था। गोवर्धन दांगी के निधन पर पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमल नाथ (Former Chief Minister And PCC Chief Kamal Nath) ने मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं पर सवाल उठाए हैं।कमलनाथ (Kamalnath) का कहना है कि यहां की लापरवाही से कांग्रेस विधायक की जान गई।

कमल नाथ ने आरोप लगाते हुए कहा कि दांगी की भोपाल में कोरोना का इलाज चल रहा था, लेकिन उनके इलाज में लापरवाही बरती गई जिसके चलते उनकी हालत और बिगड़ गई और उन्हें दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाना पडा। उन्होंने बताया कि दिल्ली में अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि भोपाल में दांगी के इलाज में बहुत ज्यादा लापरवाही बरती गई। जिसके बाद आज उन्होंने अस्पताल में अपनी अंतिम सांस ली।

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमल नाथ ने आरोप लगाया है कि जब उनको दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया तो उनकी स्थिति बहुत बिगड़ गई थी और खुद दिल्ली अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि यह कैसा इलाज हुआ विधायक की स्थिति किस हालत में पहुंच गई। कमलनाथ ने चिरायु अस्पताल प्रबंधन पर विधायक गोवर्धन दांगी का सही इलाज न करने का आरोप लगाया । कमलनाथ पहले भी चिरायु अस्पताल में अपने कई साथियों को लेकर सवालिया निशान खड़े कर चुके हैं और अब विधायक की मौत के मामले में उनका या आरोप एक बार फिर अस्पताल प्रबंधन की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े कर रहा है ।इसके पहले भी चिरायु अस्पताल जिस जमीन पर बना है उसके तालाब की भूमि पर बने होने को लेकर भी कई बार आरोप लगते रहे हैं।

दरअसल, आज मंगलवार सुबह मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी की दिल्ली के एक निजी अस्पताल में मृत्यु हो गई है, वे कोरोना पीङित थे और हालत गंभीर होने के बाद उनको भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती किया गया था, लेकिन यहां हालात में सुधार ना होने के चलते उन्हें आनन-फानन में गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल रेफर किया गया था, जहां आज सुबह इलाज के दौरान उनका निधन हो गया । ब्यावरा से कांग्रेस विधायक गोवर्धन दांगी की पत्नी और बेटी अगस्त के तीसरे हफ़्ते में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद जांच करवाने पर विधायक गोवर्धन दांगी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। करीब तीन सप्ताह पहले उन्हें इलाज के लिए भोपाल के चिरायु अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। विधायक की हालत में सुधार नहीं होने पर उन्हें मेदांता में भर्ती करवाया गया था। जिसके बाद आज उनका निधन हो गया।उनके निधन पर कांग्रेस ने मप्र पर इलाज में लापरवाही के आरोप लगाए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here