सीएम ने किया फसल बीमा राशि का वितरण, कृषि मंत्री ने सीएम के लिये कही ये बात

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। महाकाल की नगरी उज्जैन में किसानों को 2019 की फसल बीमा की राशि का मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंगल क्लिक से किया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने कहा कि अगर आज शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री नहीं होते तो किसानों को फसल बीमा का लाभ नहीं मिल पाता।

कमल पटेल ने कहा की पूर्ववर्ती कमलनाथ सरकार ने 2018 और 2019 के फसल बीमा की प्रीमियम राशि जमा नहीं की लेकिन भला हो ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके मंत्रियों तथा 22 विधायकों का जिनके पद छोड़कर भाजपा में आने से शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में सरकार बन सकी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शपथ लेने के एक सप्ताह के भीतर 2018 की फसल बीमा का प्रीमियम जमा करा दिया। इसके बाद 1244 करोड़ का प्रीमियम 2019 की फसल बीमा के लिए दिया गया। कमल पटेल ने कहा कि कायदे से यह काम पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को करना था लेकिन उन्होंने किसान के हितों की कभी परवाह नहीं की। कृषि मंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने फसल बीमा की प्रीमियम राशि का भुगतान नहीं करने के साथ किसानों को एक और धोखा दिया, कांग्रेस सरकार ने फसल बीमा का स्केल आफ फाइनेंस जो भाजपा के समय 100 प्रतिशत था उसे घटाकर पचहत्तर प्रतिशत कर दिया जिससे किसानों को 1553 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होने बताया कि आज 4688 करो करोड़ रुपए फसल बीमा की राशि का किसानों के खाते में भुगतान किया जा रहा है, यह राशि 1553 करोड़ रुपये और अधिक हो सकती थी। मंत्री कमल पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री की सहमति से फसल बीमा का स्केल ऑफ फायनेंस फिर सौ प्रतिशत कर दिया गया है इसके साथ ही रबी सीजन से पटवारी हल्का क्षेत्र में 100 हेक्टेयर फसल क्षेत्र की बाध्यता में बदलाव कर इसे 50 हेक्टेयर क्षेत्र कर दिया गया है, इससे अब छोटे किसानों को भी बड़ा फायदा मिल सकेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here