भोपाल।

लगातार तेजी से बढ रही कोरोना (corona) मरीजों  की संख्या के बाद मध्य प्रदेश (madhypradesh) देश के उन राज्यों में शामिल हो गया है, जहां 10 हजार से ज्यादा संक्रमित है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Ministry of Health) के आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 10,049 हो गई है और मृतक संख्या 427 हो गई है। वही भोपाल-इंदौर समेत अन्य जिलों में कोरोना के नए मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी है, इस बिगड़ती स्थिति को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कमलनाथ (Former Chief Minister and Congress President Kamal Nath) ने शिवराज सरकार (Shivraj government) पर हमला बोला है।

कमलनाथ ने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार को आडे हाथों लिया है। कमलनाथ ने लिखा है प्रदेश में कोरोना संक्रमण के आंकड़े निरंतर बढ़कर भयावह होते जा रहे हैं , वही सरकार इन्हें भूल व जनता को अपने हाल पर छोड़ उपचुनावों की तैयारियों में पूरी तरह से जुट गयी है।प्रदेश में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 10000 के पार पहुंच गया है।अभी तक 440 लोगो की मृत्यु हो चुकी है।

नाथ ने अगले ट्वीट में लिखा है कि आज भी प्रदेश में आम मरीजों को अस्पतालों में इलाज नहीं मिल पा रहा है , इसके अभाव में मरीज रोज दम तोड़ रहे हैं। प्रदेश के सभी स्थानो से निजी अस्पतालो की मनमानी व भारी-भरकम बिल वसूलने की शिकायतें रोज़ सामने आ रही हैं।सरकार का अभी तक उन पर कोई नियंत्रण नहीं बन पाया है। आज भी आवश्यक सुरक्षा संसाधनों के अभाव में कोरोना वारियर्स प्रतिदिन संक्रमित हो रहे हैं और वही दूसरी तरफ इन सब बातों से बेख़बर सरकार और ज़िम्मेदार उप चुनावो की तैयारियों के लिये घंटो मंथन करने में जुटे है।जनता को उन्होंने अपने हाल पर छोड़ दिया है।

पेट्रोल-डीजल के दामों पर भी घेरा

वही उन्होंने पेट्रोल डीजल (Petrol diesel) की कीमतों पर बढ़ोत्ततरी को लेकर भी निशाना साधा है और लिख ाहै कि प्रदेश में पेट्रोल पर पूर्व में ही 33% वैट , 1% सेंस व 3.5 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था।वहीं डीजल पर 23% वैट , 1% सेंस व 2 रुपये अतिरिक्त कर लग रहा था।अतिरिक्त करों में इस बढ़ोतरी से अब पेट्रोल व डीज़ल में अभी तक का सर्वाधिक टैक्स हो गया है।वही अब मध्य प्रदेश की सरकार ने इस संकट काल में पेट्रोल और डीजल पर एक 1-1 रुपये का अतिरिक्त कर बढ़ाकर जनता को महंगाई की आग में झोंकने का काम किया है।