एक्शन में नई सरकार, नगरीय निकायों के एक हजार एल्डरमैन की नियुक्तियां रद्द

kamalnath-government-remove-one-thousand-elderman-of-378-urban-bodies-in-mp

भोपाल। मध्य प्रदेश में सरकार बदलते ही अब पिछली सरकार में हुई नियक्तियों पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है| आयोग, निगम मंडलों के पदाधिकारियों की नियुक्तियां निरस्त करने के बाद अब नई सरकार ने शुक्रवार को नगरीय निकायों में तैनात एल्डरमैन की नियुक्तियां रद्द कर दीं है। इससे लगभग एक हजार एल्डरमैन प्रभावित होंगे। इसके लिए नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने दो अलग-अलग आदेश जारी किए।  

प्रदेश के 16 नगर निगम 98 नगर पालिका 264 नगर परिषद में शिवराज सरकार ने एल्डरमैन ओं की नियुक्ति की थी। इसके साथ ही राज्य शासन ने छिंदवाड़ा रीवा और ग्वालियर नगर निगम में पिछली सरकार के दौरान हुए कामों की जांच के भी निर्देश दिए हैं नगरीय प्रशासन ने आज उप सचिव राजीव निगम के हस्ताक्षर से जारी किए गए आदेश के तहत समय-समय पर नगरिया इकाइयों में नियुक्ति किए गए उनके पास से तत्काल प्रभाव से मुक्त कर दिया गया है। प्रदेश में 16 नगर निगम, 98 नगर पालिका और 264 नगर परिषद हैं। प्रत्येक नगर निगम में छह, नगर पालिका में चार और नगर परिषद में दो एल्डरमैन नियुक्त किए जा सकते हैं। अधिकतर निकायों में अधिकतम एल्डरमैन नियुक्त थे। वर्तमान में प्रदेश की प्रमुख नगर निगमों भोपाल, इंदौर, ग्वालियर में छह और जबलपुर में पांच एल्डरमैन थे।  लगभग सात नगरीय निकायों में अभी प्रशासक नियुक्त हैं।

 

संघ और भाजपा से जुड़े नेता कृषि विपणन बोर्ड एवं निगम-मंडलों से बाहर 

मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा सभी निगम मंडलों, प्राधिकरणों, बोर्ड, परिषद एवं अन्य संस्थाओं में भी नियुक्तियां निरस्त करने के आदेश जारी होने के बाद राज्य सफाई कर्मचारी आयोग, केश शिल्पी मंडल, सिलाई कला मंडल एवं कृषि विपणन बोर्ड से पदाधिकारियों की नियुक्ति निरस्त कर दी है। नगरीय विकास एवं आवास विभाग ने राज्य सफाई कर्मचारी आयोग में मनोनीत सर्वश्री जटाशंकर करोशिया अध्यक्ष, सूरज खरे उपाध्यक्ष, सुनील वाल्मिक, रतन सिंह मेहरोलिया, ओमप्रकाश नरवारे उर्फ (पप्पू बडोनी), अमित कछवाहा, बाबूलाल नरवले और श्रीमती ऊषा पति दीना पवार का मनोनयन निरस्त किया गया है। इसी तरह राज्य केश-शिल्पी मण्डल में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्य के रूप में पूर्व में किये गये मनोनयन को भी तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। वहीं राज्य सिलाई कला मण्डल में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और सदस्य के रूप में पूर्व में किये गये मनोनयन को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है।

कृषि विपणन बोर्ड में भी नियुक्ति निरस्त

कृषि विभाग ने राज्य कृषि विपणन बोर्ड में पदाधिकारियों की नियुक्यिां निरस्त कर दी हैं। जिसमें एसएस उप्पल उपाध्यक्ष एवं विशेषज्ञ, सुनील नामदेव, धरम सिंह आर्य सदस्य, रामेश्वर पटेल सदस्य, आजम सिंह सदस्य, रामकुंवर बाई पाटीदार सदस्य, जितेन्द्र रावत सदस्य का मनोनयन निरस्त कर दिया है।