पहले पता लगाएंगें क्यों बंद हुए पुराने उद्योग, फिर करेंगें नए की शुरुआत : कमलनाथ

KamalNath-said-before-we-find-out-why-the-old-industry-was-closed-in-mp

भोपाल। मीट में पुराने उद्योग क्यों खत्म हुई इस पर उद्योगपतियो से चर्चा की गई। मेरा फोकस रोजगार बढाने पर है। सरकार उद्योग विभाग में 6 से 7 अधिकारियों की नियुक्ति करेगी जो मुझे सीधे रिपोर्ट करेंगे और बताएंगें कि आखिर मध्यप्रदेश में उद्योंग क्यों खत्म हो रहे है, क्या कारण है कि कोई कंपनी यह निवेश नही करना चाहती। अभी नए उद्योग नहीं पहले पुराने उद्योग क्यो बन्द हुए इनके कारणों को पता लगाया जाएगा, इसके बाद आगे की बात की जाएगी। यह बात आज मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।

दरअसल, आज राजधानी भोपाल में  निवेश के उद्देश्य से मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उद्योगपतियों के साथ राउंड टेबल मीटिंग आयोजित की । मिंटो हाॅल में आयोजित इस  बैठक में मध्यप्रदेश के प्रमुख उद्यमियों सहित देश के जाने-माने उद्योग समूहों के प्रमुख व प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में सीएम ने उद्योग समूहों के प्रतिनिधियों से सीएम ने चर्चा की व प्रदेश के वर्तमान उद्योग परिदृश्य पर उनके अनुभव और सुझाव किए। बैठक में देश की 50 से ज्यादा शीर्ष कंपनियों के निदेशक, अधिकारी और प्रतिनिधि शामिल रहे। बैठक के बाद सीएम नाथ ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि यह इन्वेस्टर समिट नहीं थी, यह समिट से पहले निवेशकों से चर्चा थी, ताकी सरकार की मंशा और निवेशकों की मंशा जानी जा सके। इस दौरान निवेशकों को भी निवेश के लिए अवसर ढूढने को मिलेंगें और हमें भी रोजगार के अवसर।  प्रदेश में कई उद्योग हो रहे बन्द यह चिंता का विषय है इसका कारण क्या है सरकार उपाय तलाशे की और चर्चा करेगी मैंने उद्योगों को लेकर आ रही परेशानी व्यापारियोँ ने राय मांगी है।प्रदेश में बंद पड़े उद्योगों को चालू करने की दिशा में सरकार काम करेगी। 

नाथ ने कहा कि  मेरा मानना है की उद्योग की डिमांड करना उचित नही उद्योग को आकर्षित करना उद्देश्य है। आंध्र और तेलगांना के मॉडल की बात व्यापारियो ने की है।सेवा क्षेत्र के उद्योगों को लेकर जल्द की व्यापारियोँ से मुलाकात करूँगा। फूड प्रोसेसिंग की यूनिट के लिए कई निवेशकों की मध्य प्रदेश में रुचि दिखाने पर सरकार क्लस्टर बना कर  5 एकड़ की जमीन देगी । फार्मास्यूटिकल निवेश के लिए भी निवेशकों से चर्चा की गई है। सरकार की प्राथमिकता अधिक से अधिक रोजगार युवाओं को मिले इसको लेकर निवेशकों से चर्चा हुई। इसके बाद सर्विस सेक्टर के लिए निवेशकों से बातचीत  की जाएगी जो छोटे-छोटे सेक्टर की यूनिट लगाने की मंशा रखते हो।  सरकार फूड सेक्टर गारमेंट्स उद्योग को भी बढ़ावा देगी ताकी रोजगार के अवसर खुले।