ससुर की हत्या के बाद पत्नी से कॉल पर बोला हत्यारा, अब तेरी बारी

killer-threaten-wife-after-murder-of-father-in-law

भोपाल। ससुर की चाकू से गोदकर बेरहमी से हत्या करने वाला आरोपी खुलेआम घूम रहा है। वहीं उसकी पत्नी का कहना है कि हत्या के बाद में आरोपी ने उसे कॉल किया था। फोन पर उसने धमकाया कि पिता की हत्या कर दी है। अब तुझे और तेरी बहन तथा बेटे को भी नहीं छोड़ूगा। पिता की धमकी के डर से बीते आठ दिनों से बेटा स्कूल नहीं जा रहा है। वहीं पुलिस सूत्रों का दावा है कि हत्याकांड के काफी समय बाद तक आरोपी का मोबाइल चालू था। कोहेफिजा थाने के एक पुलिसकर्मी ने उससे फोन पर बात की थी। आरोपी ने उससे भी कहा था कि पांच हत्याएं पूरी करने के बाद ही वह पुलिस के हाथ आएगा। हालांकि पुलिस ने उसकी जल्द गिरफ्तारी के दावे किए हैं। हत्यारे के एहम सुराग हाथ लगने की बात कही जा रही है।

जानकारी के अनुसार आरोपी गजेंद्र यादव की पत्नी मनीषा श्रीवास्तव के अनुसार आए दिन की मारपीट से तंग आकर उन्होंने पति को छोड़ा था। 6 महीने पहले दोनों ने 50 रुपए के स्टाप पर लिखा-पढ़ी कर तलाक ले लिया था। बीते कुछ दिनों से बदमाश लगातार उस पर घर लौटने का दबाव बना रहा था। हालांकि वह घरों में खाना बनाकर अपना गुजर बसर कर रही हैं। पति और पिता दोनों से अलग मुर्गी बाजार में किराए का कमरा लेकर रहती हैं। उनका दावा है कि हत्याकांड के बाद में गजेंद्र ने उन्हें कॉल कर पिता को मौत के घाट उतारने की जानकारी दी थी। आरोपी ने दावा किया कि जब तक वह उन्हें,बेटे और मनीषा के साथ रहने वाली रेखा दीदी की हत्या नहीं करेगा पुलिस के हाथ नहीं आएगा। मनीषा ने पुलिस से उन्हें और परिवार को प्रोटेशन देने की मांग की है। 

-बात मानते पिता तो बच जाती जान

मनीषा ने बताया कि पिता अगर उनकी बात को मानते तो उनकी जान बच जाती। आरोपी कॉल कर उन्हें घर बुला रहा है इस बात की जानकारी पिता ने उन्हें फोन कर दी थी। आरोपी ने कहा था कि अगर वह घर आकर लाइट सही नहीं करते तो उनकी नवासी मतलब मनीषा और गजेंद्र की बेटी करंट की चपेट में आकर जान गंवा सकती है। नातिन के नाम पर वह जाने के लिए राजी हुए थे, इसी बीच आरोपी उन्हें लेने घर पहुंच गया था। मनीषा ने उन्हें साथ जाने से मना किया था लेकिन पिता नहीं माने और उनकी हत्या कर दी गई।

– पुल��स ने की थी मामले में लीपापोती

मनीषा ने बताया कि 6 महीने पहले आरोपी ने उनके साथ में घर आकर अभद्रता की थी। उस समय भी गजेंद्र ने जान से मारने की धमकी दी थी तथा झूमाझटकी की थी। तब उन्होंने थाना शाहजहांनाबाद में इसकी शिकायत की थी। शिकायत के बाद में आरोपी को पुलिस ने पकड़ भी लिया था। हालांकि उसके खिलाफ कोई कर्रवाई नहीं की गई। पुलिस ने धारा 155 के तहत शिकायत दर्ज कर आरोपी को समझाइश देकर थाने से छोड़ दिया। उस समय सख्त कार्रवाई की गई होती तो गजेंद्र के हौसले नहीं बड़ते। मनीषा ने बताया कि पुलिस द्वारा की कार्रवाई की कॉपी उनके पास मौजूद है।

– बाहर धारदार हथियार लहराता हुआ भागा

पड़ोस में रहने वाले राजू ने बताया कि आरोपित गज्जू को उसने सुबह स्कूटर से भागते देखा था । उसके पास एक लंबा धारदार हथियार था। वह भाग रहा था, उसको आवाज दी, लेकिन उसने कुछ सुना नहीं। उसके हाथ में लंबा धारदार हथियार था। वह गुप्ती या लंबा छुरा भी हो सकता है। फिलहाल पुलिस को जानकारी दे दी है। पुलिस में मृतक के परिजनों को फोन पर सूचना देकर शव को पीएम के हमीदिया अस्पताल में रखवाया है। इधर, पुलिस ने आरोपित को गिरतार करने उसके आसपास के ठिकानों पर छापा मारा है। जल्द ही उसको गिरतार कर लिया जाएगा।