किटी पार्टी छोड़ समाज सेवा में जुटी राजधानी की महिलाएं

Kitty-party-leaves-women-in-the-social-service

भोपाल। महिलाओं में आज के समय में किटी पार्टी का चलन बहुत है|  हर मोहल्ले, सोसाइटी की महिलाओं का अपना ही एक किटी ग्रुप है| जिसके अन्दर सभी महिलाएं पैसे जोड़, उस पैसे से पार्टी करती है, और एक दूसरे को गिफ्टस देती हैं| लेकिन अब लगता है भोपाल में महिलाओं का इंटरेस्ट किटी पार्टी से अलग समाज सेवा की तरफ ज्यादा बड़ रहा है…तभी तो शहर के कई महिला ग्रुपों ने किटी पार्टी बंद कर उनसे बचने वाले पैसे से गरीबों की मदद करना शुरू कर दिया है….कोई जरूरतमंद बच्चों को किताबें बांट रहा है…तो कोई अनाथालय में फ्रिज, कूलर, और वाशिंग मशीन दे रहा है….. और तो और कुछ महिला संगठन तो ऐसे है जो गर्मियों में पक्षियों के लिए दाना-पानी की जुगत में लगे हुए हैं|

यह है कुछ महिला संगठन जो कर रहे हैं समाज सेवा

जैन महिला संगठन- इस संगठन की महिलाएं गरीब बच्चों को किताबें बांटने का काम कर रही हैं|  सभी महिलाएं आपस में रूपए जमा करके गरीब और अनाथ बच्चों के लिए पाठ्य सामग्री जैसे पुस्तक, बस्ते, स्टेशनरी सहित अन्य चीजे खरीदकर बच्चों को बांटती है.|

पंजाबी समाज महिला ग्रुप- 12 महिलाओं का यह ग्रुप हर महीने रूपए जमा करके किसी ना किसी संस्था को दान करती हैं और तो और इन महिलाओं ने मातृछाया के बच्चों को पालना और वॉशिंग मशीन दान की है…… 


जीव मित्र महिला ग्रुप- इस ग्रुप की महिलाएं पर्यावरण सरंक्षण को लेकर जागरूक है और ग्रुप के बचाए पैसों का प्रयोग पक्षियों के दाना-पानी में किया जाता है| इतना ही नहीं शहर के अलग-अलग स्थानों पर और कॉलोनियों में पक्षियों के लिए सकोरे में पानी की भी व्यवस्था करती हैं|


पर्यावरण सखी महिला ग्रुप- यह ग्रुप पूरे शहर में घूमकर महिलाओं को मतदान के लिए जागरूक करता है| इसी के ही साथ ग्रुप की महिलाएं पैसे बचाकर पौधे खरीदती हैं और जगह-जगह के गार्डन में जाकर फिर उन खरीदे हुए पौधों को लगाती हैं|