भोपाल। मध्य प्रदेश में अब मिलावटखोरों की खैर नहीं। प्रदेश में लगातार हो रही कार्रवाई के तहत अब प्रशासन चलती फिरती लैब लान्च की है। जो आन स्पाट मिलावट की जांच करेगी। चलती फिरती लैब ऑन स्पॉट दूध, मावा, पनीर और मसालों की जांच करेगी। आज से शुरू हुई इस व्यवस्था में 9 से 20 जनवरी तक 41 अलग- अलग स्थानों पर अलग समय पर लेबोरेटरी में खाद्य पदार्थों की जांच बड़ी आसानी से हो सकेगी। इस पूरी व्यवस्था का संचालन फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन कर रहा है और इस चलती फिरती लैब को  मोबाइल फूड लेबोरेटरी का नाम दिया गया है। 

इस लैब के अंदर पदार्थों के बेसिक टेस्ट बड़ी आसानी से हो सकेंगे। हालांकि कोई बड़ा टेस्ट इस लैब में नहीं हो पाएगा। खास बात यह है कि लेबोरेटरी में जांचें गए खाद्य पदार्थ की जांच रिपोर्ट के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। बल्कि उसी समय ही उसे रिजल्ट का पता चल जाएगा और खाद्य पदार्थ की जांच का रिकार्ड लेबोरेटरी टेस्ट रजिस्टर में भी रखा जाएगा। साथ ही मोबाइल लैबोरेटरी में सभी जांचें निशुल्क होंगी।

इन खाद्य पदार्थ की हो पाएगी  मोबाइल लैब में जांच 

दूध, मावा, पनीर, नमक, मसाले, फल, सब्जी।

लैब में ये जांचे होंगी

यूरिया, डिटर्जेंट, फैट, एसएनएफ फैट, स्टार्च, आयोडीन, केमिकल कलर, मिट्टी, धूल, कलर, वेक्स। गौरतलब है कि इस लैब में तेल, घी आदि खाद्य पदार्थों की जांच नहीं हो पाएगी। इस तरह के खाद्य पदार्थों के सैंपल्स को जांच के लिए स्टेट फूड लेबोरेटरी ही भेजा जाएगा।