MP: भारी बारिश से किसानों की फसलें तबाह, बाढ़ में बही आयशर, मंत्री का काफिला फंसा

Life-is-disturbed-by-heavy-rain-in-mp

भोपाल।

प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो चला है। नदी नाले उफान पर हैं, कई जगहों का संपर्क टूट गया है। यातायात बुरी तरह से प्रभावित हो रहा है।लोगो और वाहनों के लगातार बहने की खबरे सामने आ रही है। इधर भारी बारिश के कारण आगर मालवा जिले के प्रभारी मंत्री औऱ कमलनाथ सरकार में नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धन सिंह बीच में फंस गए।बताया जा रहा है कि जयवर्धन सिंह अपने काफिले के साथ नलखेड़ा ‘आपकी सरकार आपके द्वार” कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे थे, तभी उज्जैन रोड पर तनोडिया के पास पुलिया पर पानी अधिक होने के कारण रुक गए।

वही  मालवा-निमाड़ की करीब-करीब सभी नदियां उफान पर हैं। ऐसे में आए दिन पानी में बहने की घटनाए सामने आ रही हैं। आज सुबह धार के ग्राम कालीबावड़ी में एक माल से भारी आयशर नदी में बह गई। पत्थरों में फंसी आयशर को लोगों ने जेसीबी की मदद से बाहर निकलवाया।वहीं रायपुरिया में पंपावती नदी से गुजर रही माही नहर के क्षतिग्रस्त हाेने से कई किसानों की फसल तबाह हो गई है। वही  चंबल नदी में उफान आने से कई गांव का संपर्क नागदा शहर से टूट गया। आसपास के कई गांव में भी मकान गिर गए है। हालांकि कोई जनहानी नहीं हुई है। शहर में स्थित बनबना तालाब भी ओवर फ्लो हो गया।

उधर,चंबल नदी पर नागदा में नायन डेम पर बना पुल सुबह 8 बजे डूब गया। जिससे आधा दर्जन गांव का संपर्क टूट गया। गांव नायन, भीलसुड़ा, पाड़सुतिया, बड़ा गांव, भीकमपुर के लोगों को नागदा आने के लिए पचलासी व बुरानाबाद होते हुए लगभग 10 किमी का अतिरिक्त चक्कर लगा कर नागदा आना पड़ रहा है। इसी प्रकार गांव पिपलौदा बागला में चंबल नदी पर बनी पुलिया डूब गई। जिससे गांव जलवाल समेत आधा दर्जन गांव का भी संपर्क टूट गया है। गांव नायन में बारिश महेंद्रसिंह का मकान भी गिर गया। वहीं देवास में भी बारिश के बाद हालात बिगड़ने लगे हैं। यहां जिले के गांव रंधन खेड़ी तहसील टोंक खुर्द में लगातार हो रही बारिश के कारण पूरा गांव तालाब में तब्दील हो गया है।वहीं भेरू घाट खंडवा रोड पर पहाड़ से गिरता पानी वाहन चालकों के लिए मुसीबत का सबब बन गया है।