डॉक्टरों की तरह पुलिस भी करेगी इलाज, हादसे के दौरान मौके पर करेगी प्राथमिक उपचार

Like-doctors

भोपाल। भोपाल के पुलिस कंट्रोल रूम में डॉक्टर्स ने पुलिस को लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग दी| इस ट्रेनिं��� में डॉक्टर्स ने पुलिस को इमरजेंसी केस को कैसे फेस करें इसकी जानकारी दी| जिसका बकायदा डॉक्टरों ने पुलिसकर्मियों को डेमो देकर बताया | जैसे कोई जहरीले जानवर काट लेता है तो किस तरीके से मदद की जाए या किसी को हार्ट अटैक आ जाता है तो किस तरीके से उस मरीज को तत्काल इलाज दें| ऐसी कई महत्वपूर्ण जानकारी पुलिस को डॉक्टर्स ने दी|

इस ट्रेनिंग सेशन को एडिशनल एसपी प्रदीप सिंह चौहान ने बताया कि अगर कोई हादसा होता है तो सबसे पहले वहां पर ट्रैफिक पुलिस या फिर कोई पुलिसकर्मी पहुंचता है…. इसी को देखते हुए हमने ये ट्रेनिंग सेशन डॉक्टरों के साथ मिलकर आयोजित किया है| विपरीत परिस्थितियों में मरीज की जान कैसे बचाई जा सके इसी उद्देश्य से ये लाइफ सपोर्ट ट्रेनिंग कार्यक्रम रखा गया है…पुलिस और डॉक्टर्स कि ये काफी अच्छी पहल है जो आम जनता के लिए काफी मददगार साबित होगी|

आए दिन शहर में सड़क हादसे होते हैं| बहुत से हादसों में देखा गया है कि जब तक पुलिस पीड़ित व्यक्ति को अस्पताल तक पहुंचाती है| तब तक काफी देर हो जाती है  ऐसी स्थिति से बचने के लिए पुलिस कर्मियों का फर्स्ट ऐड की महत्वपूर्ण  जानकारी होना काफी जरूरी है| ताकि प्रारंभिक उपचार पुलिसकर्मी ही दे सके|