इन 7 राज्यों के अफसरों को मिली एमपी में लोकसभा चुनाव कराने की जिम्मेदारी

lok-sabha-loksabha-election-2019-officers-of-seven-states-will-do-election-in-mp

भोपाल।

चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तैयारियां पूरी कर ली है। 29  अप्रैल को देश के चौथे और एमपी के पहली चरण के मतदान होना है।इसके लिए आयोग ने सात राज्यों के अफसरों को सौंपी है। जिन सात राज्यों के अफसरों की ड्यूटी लगाई गई है वे महाराष्ट्र, तमिलनाडू, उत्तरप्रदेश, पंजाब, दिल्ली, बिहार और उड़ीसा) है। इसमें आईएएस, आईपीएस और आईआरएस शामिल है।

चुनाव आयोग ने 54 सामान्य, 29 व्यय और 16 पुलिस पर्यवेक्षकों की ड्यूटी प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों के लिए लगाई है।चुनाव आयोग ने 54 सामान्य, 29 व्यय और 16 पुलिस पर्यवेक्षकों की ड्यूटी प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों के लिए लगाई है।इनमें जबलपुर, इंदौर, सतना और रीवा लोकसभा में एक-एक आईएएस अधिकारी तैनात होगा और बाकी 25 सीटों पर दो-दो आईएएस अधिकारियों की ड्यूटी सामान्य पर्यवेक्षक के तौर पर लगाई गई है।16 आईपीएस अफसरों को पुलिस पर्यवेक्षक बनाया गया है। इनमें से तीन अधिकारी भोपाल, रीवा और राजगढ़ लोकसभा के लिए तैनात रहेंगे। जबकि 13 अधिकारी 26 लोकसभा क्षेत्र देखेंगे।

वही विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 126 – छिन्दवाड़ा में होने वाले उप चुनाव के लिये भी आयोग द्वारा सामान्य प्रेक्षक, पुलिस प्रेक्षक एवं व्यय प्रेक्षक की अलग से नियुक्ति की गई है। यहां से मुख्यमंत्री कमलनाथ चुनाव लड़ेंगे। यह सीट विधायक दीपक सक्सेना के इस्तीफा देने की वजह से खाली हुई है। इसके लिए  छिंदवाड़ा में मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में भी प्रतिवेदन मांगा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here