Lokayukta Action : 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते PWD Executive Engineer गिरफ्तार

चूँकि ट्रेप की कार्यवाही चौराहे पर हुई थी इसलिए लोकायुक्त की टीम आरोपी पीडब्ल्यूडी कार्यपालन यंत्री कमल सिंह कौशिक को लेकर कमलानगर थाने पहुंच गई जहाँ वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।   

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  रिश्वत (Bribe)लेने वाले अधिकारी कर्मचारी लगातार सरकार के निशाने पर हैं। लोकायुक्त, ईओडब्ल्यू सहित अन्य एजेंसियां इनके खिलाफ कार्यवाही भी कर रही हैं बावजूद इसके रिश्वतखोर अधिकारी कर्मचारियों में भय नहीं है। लोकायुक्त पुलिस ने आज फिर एक बड़े अधिकारी को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

जानकारी के अनुसार लोकायुक्त पुलिस भोपाल (Lokayukta Police Bhopal)की टीम ने आज भोपाल में पदस्थ पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यपालन यंत्री कमल सिंह कौशिक को 25 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार (PWD executive engineer arrested for taking bribe) किया है। आरोपी इंजीनियर बिलों के भुगतान के बदले रिश्वत की मांग कर रहे थे जिसकी शिकायत ठेकेदार ने लोकायुक्त एसपी कार्यालय में की थी।

ये भी पढ़ें – Chhatarpur Bribe : राजस्व निरीक्षक का 2000 रुपए रिश्वत लेते वीडियो वायरल, काम के बदले 10 हजार रुपए की थी मांग, जांच के आदेश

ठेकदार महेंद्र पांडेय ने लोकायुक्त एसपी भोपाल कार्यालय को दिए शिकायती आवेदन में बताया था कि उन्होंने खुशीलाल शर्मा आयुर्वेदिक संस्थान में बाउंड्रीवाल और एप्रोच रोड बनाई थी। 67 लाख रुपये के बिलों का भुगतान होना था और डिपॉजिट राशि भी वापस चाहिए थी लेकिन इस काम के बदले कार्यपालन यंत्री कौशिक एक प्रतिशत के हिसाब से रिश्वत मांग रहे हैं। लेकिन मामला 25 हजार रुपये पर तय हो गया।

ये भी पढ़ें – Ujjain : लापरवाह टी आई को एसपी ने किया लाइन अटैच, चोरी के आरोप में युवक को उल्टा लटकाने का मामला

लोकायुक्त ने शिकायती आवेदन के बाद फरियादी को टेप रिकॉर्डर दिया और उससे इंजीनियर के साथ बात कर रिश्वत मांगे जाने के पुख्ता प्रमाण लेने के बाद आज मिलने का समय दिया। इंजीनियर को ट्रेप करने के लिए डीएसपी सलिल शर्मा, टीआई आशीष भट्टाचार्य और टीआई मयूरी गौर की टीम नेहरू नगर चौराहे के पास पहुँच गई और जैसे ही ठेकेदार महेंद्र पांडेय ने कार्यपालन यंत्री कमल सिंह कौशिक को रिश्वत की राशि 25 हजार रुपये दी लोकायुक्त की टीम ने उसे रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें – शराब पीकर बीच सड़क पर जमाई कुर्सी, किया हंगामा, वीडियो वायरल

चूँकि ट्रेप की कार्यवाही चौराहे पर हुई थी इसलिए लोकायुक्त की टीम आरोपी पीडब्ल्यूडी कार्यपालन यंत्री कमल सिंह कौशिक को लेकर कमलानगर थाने पहुंच गई जहाँ वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।