loksabha-election-congress-prepare-new-strategy-

भोपाल। लोकसभा चुनाव से पहले राजनीतिक दल एक दूसरे को हारने की नई रणनीतियों पर काम कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से बेदखल करने के बाद अब कांग्रेस की निगाहें लोकसभा चुनाव पर हैं। कमलनाथ सरकार ने एक नई रणनीति तैयार की है। कमलनाथ सरकार जनता के बीच अपने 60 दिन के काम को लेकर जाएगी। वही, प्रदेश में कांग्रेस के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी भी 10  से 12 चुनावी रैलियां करेंगे। चुनाव प्रचार समिति ने ये फैसला लिया है। 

कांग्रेस मीडिया सेल चीफ और कांग्रेस चुनाव प्रचार समिति की सदस्य शोभा ओझा ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश की जनता के सामने 60 दिन में किए गए जनहित कार्यों का ब्यौरा रखेगी। फिर हम सवाल करेंगे पांच साल में नरेंद्र मोदी की सरकार ने क्या किया है। कमलनाथ सरकार योजना के पहले चरण में 25 लाख से अधिक किसानों के दो लाख रुपये तक के कृषि ऋण माफ करने के लिए जय किसान रिण माफी योजना लागू कर रही है। कांग्रेस ने कर्ज माफी योजना के कार्यान्वयन को इंदिरा किसान ज्योति योजना जैसे कई अन्य घोषणापत्र वादों के कार्यान्वयन के साथ मतदाताओं को लुभाने के लिए किए हैं। 

कांग्रेस नेता ने कहा कि सरकार ने जो वादे अबतक अपने वचनपत्र के मुताबिक पूरे कर लिए हैं उन्हें लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान हम जनता के सामने पेश करेंगे। इसमें किसान कर्ज माफी, फर्जी आपराधिक मामलों को हटाने जैसे वादे शामिल रहेंगे। शहरी क्षेत्रों में, कांग्रेस अपने युवा स्वाभिमान योजना, शहरी युवाओं के लिए 100 दिनों के रोजगार और कौशल प्रशिक्षण की गारंटी देगी। यह एक अन्य घोषणा पत्र भी था जिसे पिछले महीने राज्य मंत्रिमंडल ने मंजूरी दी थी।