नौकर की नाक पर चाकू मारा, डाक्टर का सूटकेस लूटा

loot-in-capital-bhopal-with-doctor

भोपाल। एमपी नगर इलाके में बीती रात साढ़े दस बजे नाक पर चाकू मारकर लूटने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोपी एक डाक्टर का सूटकेस छीनकर भागे हैं। वारदात को तब अंजाम दिया गया जब नौकर सूटकेस को कार की डिक्की में रख रहा था। लूटे गए सूटकेस में करीब एक लाख रूपए की नकदी सहित अन्य कीमती दस्तावेज रखे थे। वारदात के बाद में भाग रहे आरोपियों में से एक को मौके पर मौजूद लोगों ने दबोच लिया है। अन्य दो आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस घटना के बीते करीब 12 घंटो में आरोपियों के रातीबढ़ सहित अन्य दो संभावित ठिकानों पर दबिश दे चुकी है। जल्द बदमाशों की गिरफ्तारी के दावे किए जा रहे हैं। 

एसआई अविनाश कुमार सोनी के अनुसार शेषमणी पाठक पिता विद्धार्थीप्रसाद पाठक (61) निवासी मकान नंबर एस-67 राम मंदिर के पास कमला नगर वीनस डायगनोस्टिक एंड स्कैन सेंटर शिवाजी नगर में नाइट रिसेपशनिस्ट के तौर पर काम करते हैं। यह सेंटर डाक्टर राजेश मेहरा का है। बीती रात को वह हर रोज़ की तहर डाक्टर का सूटकेस उनकी गाड़ी में रखने गए थे। उन्होंने डाक्टर की कार के ड्रायवर तुलसी राम से डिक्की खोलने के लिए कहा। ड्रायवर ने डिक्की खोली। फरियादी ने सूटकेस को डिक्की में रखा ही था की मुह पर कपड़ा बांधे हुए तीन बदमाश आए। आरोपियों ने शेषमणी पाठक को झूमाझटकी कर जमीन पर गिरा दिया। एक बदमाश ने उनकी नाक पर धारदार हथियार से वार किया। जिससे वह लहूलुहान हालत में कुछ देर के लिए सुन्न हो गए। इसी बीच बदमाश बैग लेकर भाग निकले। दो आरोपी एक बाइक पर सवार होकर भागे हैं। जबकि तीसरा बाइक पर बैठने में नाकाम होने के बाद में पैदल भाग रहा था। जिसे लोगों ने पकड़ लिया। इसके बाद में आरोपी को पुलिस के हवाले किया गया। पकड़े गए आरोपी का नाम सालम बताया जा रहा है। जो रातीबढ़ का निवासी है, उसने बताया कि फरार आरोपियों में एक का नाम अनस है। जबकि दूसरे का नाम वह नहीं जानता। लूट करने के लिए अनस उसे लेकर आया था। वारदात को रेकी करने के बाद में अंजाम दिया गया है। एसआई ने बताया कि मामले में ड्रायवर की मिली भगत का संदेह है। पुलिस हिरासत में आरोपी से पूछताछ की जा रही है। लूटे गए सूटकेस में लग-भग एक लाख रूपए की नकदी और दस्तावेज रखे थे।

– आरोपी पीटते रहे, मैं बदमाश को पकड़ा रहा

फरियादी शेषमणी पाठक ने बताया कि रात करीब 10:35 बजे का समय था। डाक्टर मेहरा घर के लिए रवाना होने जा रहे थे। आगे से वह उनका सूटकेस हाथ में लिए चल रहे थे। डाक्टर कोई रिपोर्ट को चेक करने के लिए रुके। इसी बीच उन्होंने ड्रायवर से कार की डिक्की खुलवाई। सूटकेस को कार में रख भी दिया गया था। इसी बीच बदमाशों ने डिक्की को बंद करने से पूर्व अचानक धावा बोला। उन्हें गिरा दिया, तभी उन्होंने एक आरोपी जिसका नाम सालम बताया गया है को पकड़ लिया। उसने गले में गमछा बांधा हुआ था, उस गंछे को कालर के साथ में पाठक पकड़े रहे। आरोपियों ने साथी को छुड़ाने के लिए उन्हें पीटा, फिर नाक पर चाकू मार दिया। तब उनकी पकड़ से आरोपी छूट गया। इसी बीच राहगीर और आस पास के लोग आ चुके थे। आरोपियों में से दो बाइक पर सवार होकर भाग निकले लेकिन सालम बाइक पर नहीं बैठ सका। जिसे भागते समय ड्रायवर व अन्य लोगों ने पकड़ लिया। वारदात में वृद्ध पाठक की नाक पर गंभीर चोट आई है। उन्हें नाक पर तीन टांके लगे हैं।