नई पहल: अब एमपी के छात्र-छात्राएं भी सीखेंगें ‘यातायात का पाठ’

madhya-pradesh-bhopal-traffic-lesson-include-in-11th-and-12th-courses-in-madhya-pradesh

भोपाल।

अब मध्यप्रदेश में छात्र-छात्राओं को यातायात का भी पाठ पढ़ाया जाएगा, ताकी भविष्य़ में होने वाली दुर्घटनाओं से बचा जा सके। गुरुवार को विशेष पुलिस महानिदेशक पुरुषोत्तम   शर्मा की अध्यक्षता में हुई सड़क सुरक्षा बैठक में यह निर्णय लिया गया है। बैठक में बताया गया कि प्रदेश में नये शिक्षण सत्र से कक्षा 11वीं एवं 12वीं के पाठ्यक्रम में यातायात संबंधी अध्याय जोड़ा गया है। इसके जरिये युवा वर्ग को यातायात संबंधी नियम-कायदे और सड़क सुरक्षा के उपायों के बारे में जागरूक किया जायेगा। एक से 30 जून तक अभियान चलाकर लोगों को जागरूक किया जायेगा। बैठक में डीआईजी श्री धर्मेन्द्र चौधरी सहित राज्य सड़क सुरक्षा क्रियान्वयन समिति के नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

शर्मा ने बताया कि  ग्रामीण सड़कों पर राष्ट्रीय एवं राजकीय राजमार्ग की अपेक्षा अधिक हादसे हुए हैं। प्रदेश में 463 ब्लैक स्पॉट चिन्हित हुए हैं। रोड सेफ्टी फण्ड को नॉन लेप्सेबल बनाया गया है।यातायात नियम तोड़ने वालों के लायसेंस रद्द करने के लिये परिवहन विभाग कार्यवाही करे। उन्होंने आने वाले समय में लायसेंसों को आधार से लिंक करने का सुझाव दिया ताकि अन्यत्र स्थान से नया लायसेंस न बनवाया जा सके। 

उन्होंने बताया कि प्रदेश में ब्लैक स्पॉट्स पर शॉर्ट टर्म के जरिये काम कर लिया गया है। लाँग टर्म के माध्यम से सुधार के निर्देश जारी किये गये हैं। ग्रामीण सड़कों का अध्ययन कर टर्न और उनकी भौगोलिक संरचना बदलने का प्रयास करने को भी कहा जा रहा है। जिला सड़क सुरक्षा समिति की नियमित बैठकें हों और समिति ऐसे स्थानों को चिन्हित करे, जहाँ अधिक दुर्घटनायें हुई हों। ऐसा करने से दुर्घटनाओं में कमी लायी जा सकेगी। लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से राज्य-स्तर पर भी प्रचार-प्रसार किया जायेगा।