मध्यप्रदेश निकाय चुनाव: BJP विधायकों को मेयर का टिकिट मिलेगा या नहीं, आज होगा फैसला

mpbjp

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। लगातार बैठकों में महामंथन के बाद भी बीजेपी अपने महापौर प्रत्याशी के नामों पर अंतिम मुहर नहीं लगा पाई है, उम्मीद जताई जा रही थी कि रविवार को पार्टी अपने महापौर प्रत्याशियों के नाम की पहली लिस्ट जारी कर सकती है लेकिन बेसब्री से इंतजार के बावजूद यह लिस्ट जारी नहीं की गई, माना जा रहा है कि कुछ नामों को लेकर पार्टी में उठापटक की स्थिति बनी हुई है और यही कारण है कि प्रदेश के कुछ नेता और केंद्र के कुछ दिग्गजों के एकराय ना होने के चलते नाम अभी तक घोषित नहीं किए गए है, हालांकि नगरीय निकाय चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद कांग्रेस ने अपने महापौर प्रत्याशी घोषित कर दिए है, लेकिन बीजेपी अभी तक अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान नहीं कर सकी है।

यह भी पढ़ें…. मध्यप्रदेश : BJP की नगर निगम महापौर प्रत्याशियों की लिस्ट का बेसब्री से इंतजार, आज जारी होने की उम्मीद

सूत्रों की माने तो बीजेपी में 16 नगर निगम में से महापौर पद के आधे प्रत्याशी फाइनल हो गए हैं, महानगरों में कुछ नामों पर स्थिति गहमागहमी भरी है और आज इसी बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान दोपहर में दिल्ली रवाना हो रहे है। गृह मंत्री अमित शाह से इसी मुद्दे पर सीएम चर्चा करेंगे। बीजेपी ने पहले विधायकों को मेयर प्रत्याशी न बनाने का फैसला किया था लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि बीजेपी इस फैसले को बदल सकती है। फिलहाल सीएम शिवराज की आज अमित शाह से मुलाकात के बाद यह तय होगा।

यह भी पढ़ें…कर्मचारियों को जल्द मिलेगी खुशखबरी, सैलरी में फिर होगी 34000 की बढो़तरी! जानें कैसे?

गौरतलब है कि  नगरीय निकाय चुनाव दो चरणों में होंगे, पहले चरण का मतदान 6 जुलाई को डाला जाएगा, दूसरे चरण का चुनाव 13 जुलाई को होगा, पहले चरण का चुनाव परिणाम 17 जुलाई को आएगा, वहीं दूसरे चरण का रिजल्ट 18 जुलाई को जारी किया जाएगा, चुनाव के तारीखों के ऐलान के साथ ही शहरी इलाकों में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार ग्वालियर से माया सिंह को टिकट मिलना लगभग तय है क्योंकि उनके नाम पर ज्योतिरादित्य सिंधिया, नरेंद्र सिंह तोमर समर्थकों का विरोध भी कम रहेगा। हालांकि दौड़ में शामिल नामों में सुमन शर्मा, समीक्षा गुप्ता, खुशबू गुप्ता के भी नाम हैं। सागर से ब्राह्मण कैंडिडेट उतारने पर सहमति के चलते प्रतिभा तिवारी और प्रतिभा चौबे में से किसी एक पर अंतिम निर्णय हो सकता है। हालांकि यहां से रितु तिवारी, संगीता तिवारी की भी दावेदारी है। मुरैना से गुड्डी खटीक का नाम सबसे आगे है। इसके साथ ही आरती जाटव, अनिता जाटव के नाम भी चर्चा में हैं। जबलपुर से कमलेश अग्रवाल, आशीष दुबे, श्रीराम शुक्ला, जितेंद्र जामदार, अभिलाष पांडेय भी दौड़ में हैं। रीवा से व्यंकटेश पांडे, प्रमोद व्यास, प्रज्ञा त्रिपाठी, संजय द्विवेदी, कटनी से शिल्पी टंडन, शिल्पी सोनी, प्रीति सूरी, अलका जैन, सिंगरौली से शिवेंद्र बहादुर सिंह, गिरीश द्विवेदी, अंगद वर्मा, खंडवा से अमृता यादवा, ममता बोरसे, सीमा राठौर, डॉ. प्रीति गुर्जर, देवास से पूजा जैन, रीता शर्मा, गीता अग्रवाल, पूर्णिमा खंडेलवाल को प्रमुख दावेदार माना जा रहा है।

भोपाल, इंदौर में इनकी दावेदारी

वही विधायकों को टिकट दिए जाने के मामले में भोपाल से कृष्णा गौर और इंदौर से रमेश मेंदोला का नाम सबसे आगे हैं। अगर विधायकों को टिकट नहीं दिया गया तो भोपाल से भारती कुम्हारे, मालती राय, उपमा राय, राजो मालवीय, इंदौर से गौरव रणदिवे, जीतू जिराती, गोपीकृष्ण नेमा, डॉ. निशांत खरे, उमेश शर्मा, पुष्यमित्र भार्गव में से किसी एक का नाम फाइनल हो सकता है। वही माना जा रहा है कि इस बार कुछ ऐसे नाम सामने आ सकते है जो एक बार फिर सबको चौंका सकते है।