Coronavirus – अगर ऐसा ना होता तो मध्यप्रदेश में ठीक हो जाते 100% कोरोना मरीज

यदि दूसरी लहर ना होती तो अभी तक 100 फ़ीसदी के करीब लोग ठीक हो चुके होते। मार्च से लेकर अभी तक प्रदेश में कोरोना वायरस के 217302 मरीज मिल चुके हैं।

MP CORONA

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से जीतने वालों की संख्या अब 2 लाख के पार पहुंच गई है। मंगलवार को 1497 लोग विभिन्न अस्पतालों (Hospital) से डिस्चार्ज (Discharge) किए गए। इसके बाद यह आंकड़ा 200664 पहुंच गया। जबकि मंगलवार को मिले 1345 नए मरीजों की बदौलत कुल संक्रमितों की संख्या प्रदेश में 217302 हो गई है। इस तरह प्रदेश में कोरोनावायरस के बाद ठीक होने वालों का प्रतिशत 91 से ज्यादा हो गया है।

हालांकि अभी भी प्रदेश में 13280 कोरोना के एक्टिव केस (Active Case) है। संक्रमण की दूसरी लहर के कारण एक्टिव केस में बढ़ोतरी हुई है और यही कारण है कि रिकवरी रेट भी 91 प्रतिशत पर है। यदि दूसरी लहर ना होती तो अभी तक 100 फ़ीसदी के करीब लोग ठीक हो चुके होते। मार्च से लेकर अभी तक प्रदेश में कोरोना वायरस के 217302 मरीज मिल चुके हैं। इनमें से 3358 लोग की मौत हो चुकी है, जो कि कुल आंकड़े का करीब 1.5% के आसपास होता है। कोरोनावायरस की दूसरी लहर में मौत का प्रतिशत पहले से कम है।

भोपाल में 290 और इंदौर में 516 केस
प्रदेश में अन्य जिलों के मुकाबले इंदौर और भोपाल में ज्यादा संक्रमण फैल रहा है। यही कारण है कि इन दोनों शहरों में प्रतिदिन मिलने वाले देशों की संख्या बहुत ज्यादा है। आज भोपाल (Bhopal) में 316 नए केस रिकॉर्ड किए गए। वहीं दो लोगों की मौत भी हुई। राजधानी में अब तक कोरोनावायरस (Coronavirus) मामलों की संख्या 34841 हो गई है।