मध्य प्रदेश : कॉलेज ड्रॉपआउट मंत्री सरकारी वेबसाइट पर बने ग्रेजुएट!

Madhya-Pradesh-government-website-lists-dropout-ministers-as-graduates

भोपाल। मध्य प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट प्रदेश के दो कैबिनेट मंत्रियों की शिक्षा की जानकारी सही नहीं दे रही है। वेबसाइट पर दो मंत्रियों की शिक्षा स्नातक दिखाई गई है। जबकि, विधानसभा चनाव से पहले इन्हीं नेताओं ने शपथपत्र में अपनी शिक्षा कॉलेज ड्रॉपआउट बताई थी। सरकार की वेबसाइट के अनुसार 28 कैबिनेट मंत्रियों में से 6 मंत्री ग्रेजुएट नहीं हैं। 

खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर और ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के बारे में सरकार की वेबसाइट पर गलत जानकारी अपलोड की गई है। तोमर के चुनावी हलफनामे में कहा गया है कि उन्होंने ग्वालियर के भूषण स्कूल से अपनी उच्च माध्यमिक की पढ़ाई पूरी की, लेकिन सरकारी वेबसाइट का कहना है कि वह स्नातक हैं। वहीं, ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत के बार में भी वेबसाइट पर उन्हें स्नातक बताया गया है। लेकिन उनके हलफनामें में वह इंदौर के डीएवी विश्वविधालय से बीए द्वितीय वर्ष तक ही पढ़े हैं। 

वहीं, वित्त मंत्री तरूण भनोट की शिक्षा को लेकर भी भ्रमक जानकारी दी गई है। चुनाव आयोग में दिए गए हलफनामें में जानकारी दी है कि उन्होंने छग की दुर्ग विवि से इंजीनियरिंग की दो साल तक पढ़ाई की है। लेकिन सरकार की वेबसाइट पर उनके बारे में लिखा है कि वह शिक्षा के दौरान राजनीति में शामिल हो गए थे। इस बात खा खुलासा नहीं किया गया है कि उन्होंने शिक्षा पूरी की थी या नहीं। 

जनसंपर्क विभाग के अतिरिक्त चीफ सेक्ररेटरी ने कहा कि वह इस मामले में संज्ञान लेंगे और त्रुटि को सही करवाएंगे। कमलनाथ कैबिनेट के अन्य तीन मंत्री जो स्नातक नहीं हैं, वे हैं श्रम मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया, खनन मंत्री प्रदीप जायसवाल और महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी।