मध्यप्रदेश : भोपाल में ‘नेशनल हेराल्ड’ प्रॉपर्टी की होगी जांच, हो सकती है सील

मंत्री भूपेन्द्र सिंह का कहना है कि फ्रीडम फाइटर्स के नाम पर जमीन ली गई थी। जिसका कमर्शियल यूज किया जा रहा है। जांच के बाद प्रॉपर्टी सील कराई जाएगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भी नेशनल हेराल्ड की प्रॉपर्टी सील होगी। भोपाल में मौजूद ‘नेशनल हेराल्ड’ की प्रॉपर्टी की पहले जांच की जाएगी, नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह ने गुरुवार इसके आदेश भी दे दिए हैं। मंत्री भूपेन्द्र सिंह का कहना है कि फ्रीडम फाइटर्स के नाम पर जमीन ली गई थी। जिसका कमर्शियल यूज किया जा रहा है। जांच के बाद प्रॉपर्टी सील कराई जाएगी। साथ ही, जिन अफसरों ने प्रॉपर्टी का लैंड यूज में बदलाव किया है, उन पर भी कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें…. Government Job 2022 : यहाँ 3120 पदों पर निकली है भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 23 सितंबर से पहले करें आवेदन

गौरतलब है कि भोपाल में नेशनल हेराल्ड के दफ्तर में विशाल मेगा मार्ट सहित कई कमर्शियल दफ्तर चल रहे है। अब इस संपत्ति को लेकर प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह के बयान ने और सनसनी फैला दी है, उन्होंने कहा है कि भोपाल में नेशनल हेराल्ड बिल्डिंग का जिसने भी कमर्शियल यूज़ किया है इसकी जांच कराएंगे जांच कराने के बाद प्रॉपर्टी सील की जाएगी। जिन अधिकारियों ने प्रॉपर्टी का लैंड यूज़ में बदलाव किया उन पर भी कार्यवाही होगी। इसके साथ ही जिन लोगों ने भी स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम पर जगह ली उसके बाद संपत्ति अपने नाम पर करा ली। उन पर भी कार्रवाई की जाएगी, मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि जैसे दिल्ली का नेशनल हेराल्ड का मामला है, प्रॉपर्टी सोनिया गांधी राहुल गांधी ने अपने नाम पर करवा ली जबकि 3000 स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम पर वो जगह दी गई थी। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को भी नहीं छोड़ा, इसलिए सुप्रीम कोर्ट से ना कोई राहत नहीं मिली है और जमानत पर यह लोग छूटे हुए हैं