MP में फिर बदल सकता है मौसम, बारिश व ओले गिरने के आसार

भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बार फिर मौसम बदल सकता है| कुछ दिनों से लगातार ठण्ड का असर बढ़ रहा था और घना कोहरा भी देखने को मिला| लेकिन उत्तर भारत के करीब पहुंचे पश्चिमी विक्षोभ और तेलंगाना पर बने प्रेरित चक्रवात के कारण हवा का रुख बदलने लगा है। इससे दिन और रात के तापमान में इजाफा होने लगा है।

मौसम में आये इस परिवर्तन से एक बार फिर बादलों का डेरा जैम सकता है| मौसम विज्ञानियों की माने तो 3-4 दिन तक रात के तापमान में बढ़ोतरी होगी। रविवार से आसमान पर बादल छाने लगेंगे। सोमवार से बुधवार तक राजधानी सहित प्रदेश के कई स्थानों पर बारिश होने के आसार है, इस दौरान कहीं-कहीं ओले गिरने की भी आशंका जताई गई है।

कई इलाकों में बारिश और ओले गिरने की संभावना 

मौसम वैज्ञानियों के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ के उत्तर भारत से गुजरने के बाद हवा का रुख उत्तरी होगा, जबकि तेलंगाना के सिस्टम के कारण दक्षिणी हवाएं भी आएंगी। 23 से 25 दिसंबर के बीच मप्र पर उत्तर-दक्षिण की हवाओं में टकराव होगा। इससे बारिश के साथ ही कहीं-कहीं ओला वृष्टि भी होगी। मौसम की जानकारी देने वाली निजी क्षेत्र की एजेंसी की माने तो अगले 24 घंटों में मौसम पूरे राज्य में शुष्क रहेगा। उत्तरी भागों में धुंधली स्थिति देखी जाएगी। जबकि 24 घंटों के बाद, मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्सों में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। गुना, अशोकनगर, श्योपुर, उज्जैन आदि स्थानों पर वर्षा गतिविधियों का अनुभव हो सकता है। बाद में राज्य के अधिकांश हिस्सों में बारिश और गरज के साथ बारिश होगी, मुख्यतः मध्य प्रदेश के मध्य भागों में 23-26 दिसंबर के बीच बारिश की संभावना है| भोपाल, होशंगाबाद, उज्जैन, गुना, दमोह, सतना, पचमढ़ी, खजुराहो, और दतिया जैसी जगहों पर 23-26 दिसंबर के बीच हल्की बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ सकती हैं और अलग-अलग जगहों पर भारी बारिश भी हो सकती है।

एक सप्ताह तक दिख सकता है असर 

मौसम विशेषज्ञों को पूर्वानुमान है कि उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी के के बीच फिर से पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है, जिस वजह से मध्यप्रदेश के कई जिलों में बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने 22 से 26 दिसंबर के बीच मध्यप्रदेश के कई जिलों में बारिश और ओलावृष्टि की आशंका जताई है। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक दक्षिण पश्चिमी सिस्टम मध्यप्रदेश और गुजरात पर बना है। इसके अलावा एक विपरीत क्षेत्र मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ पर बन रहा है। तीसरा क्षेत्र अरब सागर में बनने के कारण मध्यप्रदेश में रविवार से बारिश का नया दौर शुरू हो जाएगा, जो एक सप्ताह तक चल सकता है।

शनिवार को चार महानगरों का तापमान

शहर अधिकत  मन्यूनतम

-भोपाल 25.412.6

-इंदौर 29.115.1

-जबलपुर 24.310.6

-ग्वालियर 23.27.5

(नोट:-तापमान डिग्रीसे.में।)