भोपाल। मध्य प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की सर्दी बारिश और ओलावृष्टि के बाद और बढ़ गई है| कड़ाके की ठंड, कोहरा और बारिश के कारण जनजीवन पर खासा असर पड़ा है। रात ही नहीं दिन में भी लोग ठिठुर रहे हैं| बुधवार के बाद गुरूवार रात और शुक्रवार को भी कई जिलों में बारिश और ओले गिरे|  मौसम विज्ञानियों से इस संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में अभी एक-दो दिन तक बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा। 

गुरुवार की रात को बैतूल, छतरपुर, उमरिया एवं सिवनी जिलों में भी कुछ स्थानों पर बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है। प्रदेश के कम से कम 20 शहरों में हल्की से मध्यम बारिश भी हुई है। सागर जिले के कई इलाके में गुरुवार देर रात बारिश के साथ बेर के आकार के ओले गिरे। शुक्रवार सुबह जब किसान खेतों में पहुंचे, तो फसल नुकसान देखकर चिंतित हो गए। किसानों के मुताबिक खेतों में कई जगह ओले पड़े मिले। प्रदेश में आज सबसे कम न्यूनतम तापमान 5 डिग्री शिवपुरी में रिकार्ड हुआ। मौसम विज्ञान केंद्र के प्रवक्ता से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान मलाजखंड में 24, टीकमगढ़ में 19, सतना में 16, रीवा में 10 मिमी. बरसात हुई।

मौसम विज्ञानियों के मुताबिक प्रदेश में अभी एक-दो दिन तक बौछारें पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा। इस दौरान मध्‍य प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर कोहरा भी छाया रहेगा। इससे दिन के तापमान में कमी बरकरार रहेगी। मौसम साफ होने के बाद ही रात के तापमान में गिरावट शुरू होगी। तब ठंड का असर और बढ़ जाएगा।  बताया जा रहा है अगले 24 घंटों के दौरान सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं कहीं घना कोहरा रहने की संभावना है| इसके अलावा भोपाल, इंदौर एवं उज्जैन संभागों के जिलों में हल्के से मध्यम कोहरा रहेगा। भोपाल शहर में भी हल्का कोहरा और बादल रह सकते है।