भोपाल।

इन दिनों चर्चाओं में बनी राजगढ़ की दोनों महिला अधिकारियों को लेकर महिला कांग्रेस ने बड़ा ऐलान किया है। महिला कांग्रेस ने फैसला किया है कि वह कलेक्टर निधि निवेदिता और एसडीएम प्रिया वर्मा का सम्मान करेगी। दोनों महिलाओं का सम्मान 8 मार्च को महिला दिवस के मौके पर किया जाएगा।

दरअसल, बुधवार को महिला कांग्रेस की प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में हुई बैठक के दौरान ये फैसला किया गया।जिसके अनुसार आठ मार्च महिला दिवस के मौके पर कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा का सम्मान किया जाएगा। ये सम्मान, प्रदर्शन के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं को सबक सिखाने के ऐवज में किया जाएगा। महिला कांग्रेस अध्यक्ष मांडवी चौहान ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि दोनों ही महिला अफसरों ने बहादुरी से बीजेपी के गुंडों का मुकाबला किया है। लिहाज़ा उनको सम्मान करना गौरव की बात है।

बीजेपी का विरोध, समर्थन में कांग्रेस

इस घटनाक्रम के बाद से ही कांग्रेस दोनों अधिकारियों का खुलकर समर्थन कर रही है। दिग्विजय सिंह ने तो इस घटनाक्रम को भाजपा की गुण्डागर्दी करार दिया है।वही महिला अधिकारियों की बहादुरी के लिए तारीफ की है।दिग्विजय ने ट्वीटर पर ट्वीट कर दोनों अधिकारियों की बहादुर पर गर्व करने की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि मप्र के राजगढ़ में भाजपा की गुण्डा गर्दी सामने आ गयी। महिला ज़िला कलेक्टर और महिला एसडीएम अधिकारीयों को पीटा गया बाल खींचे गये। महिला अधिकारीयों की बहादुरी पर हमें गर्व है।वही बीजेपी जमकर विरोध कर रही है,सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किए जा रहे है, यहां तक दोनों अधिकारियों पर एफआईआर तक की मांग की गई है।

ये है पूरा मामला

दरअसल, 19 जनवरी को राजगढ़ जिले के ब्यावरा में बीजेपी ने सीएए के पक्ष में रैली निकाली थी, जबकी शहर में धारा 144 लागू थी और प्रशासन ने भी रैली की अनुमति भी नहीं दी थी बावजूद इसके भाजपा ने रैली निकाली गई। वहां तैनात पुलिस कर्मियों ने इसकी जानकारी आला अधिकारियों को दी तो कलेक्टर मौके पर पहुंचीं। कलेक्टर ने प्रदर्शनकारियों से ब्यावरा के कुछ इलाकों में धारा 144 लागू होने का हवाला दिया गया। जिससे आक्रोशित भाजपा कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे।इससे नाराज कलेक्टर निधि निवेदिता ने भाजपा जिला मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने को थप्पड़ मार दिया। इसके बाद भी जब भीड़ ने नारेबाजी कम नहीं की तब उन्होंने एक पुलिसकर्मी का डंडा लेकर भीड़ को धक्का मारने लगीं। कलेक्टर ने रैली की अगुवाई करते हुए तिरंगा लेकर चल रहे राजगढ़ के पूर्व विधायक अमरसिंह यादव के साथ भी धक्कामुक्की की। कलेक्टर को एक्शन में देखकर डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने भी भीड़ से लोगों को पकड़कर पुलिस को सौंपने लगीं। तभी उनके साथ भीड़ ने अभद्रता कर दी।प्रदर्शनकारियों ने उन्हें बालों से खींचा और मारने पर उतारु हो गए। जिसके बाद स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।