मलेरिया दिवस : MP का फिर बढ़ा मान, दिल्ली में मिला सम्मान

प्रदेश में अब एक भी ऐसा जिला नहीं है, जिसमें प्रति हजार आबादी पर एक से अधिक मलेरिया का प्रकरण हो।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पिछले कुछ वर्षों से मध्य प्रदेश (MP News) में मलेरिया नियंत्रण (Malaria Control) पर प्रभावी ढंग से काम हो रहा है, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। इसका प्रमाण आज दिल्ली में मध्य प्रदेश को सम्मान के रूप में भी मिला। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ मनसुख मांडविया ने मलेरिया दिवस (Malaria Day) के मौके पर दिल्ली में मध्य प्रदेश को “सर्टिफिकेट ऑफ एप्रीसिएशन”( Certificate of Appreciation) दिया है।

मलेरिया नियंत्रण में मध्य प्रदेश को मिली उल्लेखनीय सफलता पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सराहना की है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने मलेरिया दिवस पर दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में मध्य प्रदेश को “सर्टिफिकेट ऑफ एप्रीसिएशन” से सम्मानित किया। प्रदेश को सम्मान मिलने पर मध्य प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने मलेरिया नियंत्रण में राज्य को मिली उपलब्धि पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों को बधाई दी।

ये भी पढ़ें – लव जिहाद और दुष्कर्म के आरोपी का अवैध मकान जमींदोज

उन्होंने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2015 की स्थिति में 25 जिलों में प्रति हजार आबादी पर एक से अधिक मलेरिया के प्रकरण पाये जाते थे, जो वर्ष 2021 में घटकर .03 प्रति हजार हो गये हैं। प्रदेश में अब एक भी ऐसा जिला नहीं है, जिसमें प्रति हजार आबादी पर एक से अधिक मलेरिया का प्रकरण हो।

ये भी पढ़ें – MP सरकार का ऐलान- चना, सरसों, मसूर और गेहूं समर्थन मूल्य पर बेचने वालों किसानों को भुगतान एक सप्ताह में

डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों की मलेरिया उन्मूलन में महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उनके द्वारा जिम्मेदारी से किये गये कार्य से प्रदेश को 2015 में केटेगरी-3 के राज्यों से निकालकर केटेगरी-1 के राज्यों में स्थान मिला है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश के लिये गौरव और हर्ष की बात है कि मलेरिया नियंत्रण और उन्मूलन की दिशा में हम निरंतर आगे बढ़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें – MP News : ट्विटर पर फिर चूके दिग्विजय ! बीजेपी नेता ने किया तंज “सपने में वीडी नजर आते हैं”