देश में पहली बार भोपाल से मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन की शुरूआत

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास कैलाश सारंग ने चिकित्सा शिक्षा क्षेत्र में लगातार नवाचारों की श्रृंखला में एक कदम और बढ़ाते हुए “मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन” की शुरूआत की है। मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के माध्यम से राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सकीय उपचार की नवीनतम तकनीक, नवाचारों एवं शोध के विभिन्न आयामों को मध्यप्रदेश के चिकित्सकों एवं चिकित्सा छात्रों तक पहुँचाया जायेगा। मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि मिशन के अंतर्गत विभिन्न आयामों पर कार्य किया जाएगा। देश-विदेश के विभिन्न चिकित्सा संस्थानों (शासकीय एवं निजी) के साथ शिक्षा, अनुसंधान और उपचार के लिए एमओयू किये जाएंगे। चिकित्सीय छात्रों एवं चिकित्सकों के लिए ट्रैनिंग, कैपिसिटी बिल्डिंग, नालेज एक्सचेंज, एक्सपोर विज़िट प्रोग्राम, आदि कार्यक्रम तैयार किये जायेंगे, जिसके माध्यम से चिकित्सीय छात्र एवं चिकित्सक अपने अनुभव, रिसर्च कार्यों एवं अन्य नवाचारों को एक दूसरे से डिजिटल रूप से साझा कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें… प्रदेश में मंत्रिमंडल में बदलाव की संभावनाओं पर क्या बोले प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा !

मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि नवीनतम तकनीकों (आर्टिफीशियल इंटेलीजेंस-AI) एवं गूगल तथा माइक्रोसॉफ्ट आधारित आधुनिक सॉफ्टवेयर का उपयोग चिकित्सा शिक्षा एवं चिकित्सकीय व्यवस्था क्षेत्र में किये जाने पर कार्य किया जाएगा। शासकीय एवं निजी चिकित्सा संस्थानों जैसे शंकर नेत्रालय चैन्नई, टाटा केंसर हॉस्पिटल मुंबई, फोर्टिस गुडगाँव एवं अपोलो हॉस्पिटल के साथ सुपर स्पेशिलिटी शल्य चिकित्सा के क्षेत्र में मेडिकल रोबोटिक्स के उपयोग चिकित्सा पद्धति एवं गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए चिकित्सकीय एवं शैक्षणिक आदान प्रदान किया जाएगा। अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी के साथ बोनमेरो ट्रांसप्लांट एवं एमोरी यूनिवर्सिटी के साथ संक्रामक बीमारियों के उपचार एवं चिकित्सा शोध के लिए MOU किया जाएगा। देश एवं विश्व के विभिन्न विधाओं के ख्याति प्राप्त चिकित्सकों के द्वारा प्रदेश के मरीजों की जटिल बीमारियों के उपचार के लिए MOU किया जाएगा, जिसके अंतर्गत हेल्थ कैंप, चिकित्सा परामर्श सुविधा एवं शल्य चिकित्सा की व्यवस्था चिकित्सा महाविद्यालय के हॉस्पिटल में की जायेगी।

यह भी पढ़ें… मुकेश अंबानी को पीछे छोड़ते हुए यह शख्स बना दुनिया का छठे नंबर का अमीर

मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि चिकित्सीय छात्रों एवं चिकित्सकों के लिए देश-विदेश में चिकित्सा के क्षेत्र में चल रहे नवाचारों, नवीन चिकित्सकीय विधियों-विधाओं एवं चिकित्सकीय शोध आदि विषयों पर ट्रेनिंग एवं कार्यशाला का आयोजन किया जाएगा। Knowledge Exchange Exposure Program अंतर्गत शासकीय चिकित्सा महाविद्यालयों के चिकित्सा छात्रों एवं चिकित्सकों को देश-विदेश में Knowledge Exchange Exposure Visit की व्यवस्था की जायेगी। राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर म.प्र. के चिकित्सक एवं चिकित्सीय छात्र सहभागी हो कर अपना साथ दे सकेंगे, जिसके परिणामस्वरूप उनकी क्षमता वृद्धि (Capacity Building) के लिए विशिष्ट ट्रेनिंग का आयोजन किया जाएगा।

देश में पहली बार भोपाल से मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन की शुरूआत