रोक के बाद भी प्रेस से मुखातिब हुए यह मंत्री

Minister-discussing-with-the-press-by-passing-Chief-Minister-Kamal-Nath's-order

भोपाल।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 21  मंत्रियों के प्रेस से चर्चा करने पर रोक लगा दी है। अब केवल सात मंत्री ही प्रेस से चर्चा करेंगें।बावजूद इसके मंत्री आदेश को दरकिनार करते हुए प्रेस से चर्चा कर रहे है। आज ही कृषि मंत्री सचिन यादव और सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह ने प्रेस से चर्चा की। मंत्री पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के आगमन पर जंबूरी मैदान में निरीक्षण करने पहुंचे थे, जहां उन्होंने प्रेस से चर्चा की और बीजेपी पर भी जमकर हमला बोला। ऐसे में सवाल उठता है क्या मुख्यमंत्री का आदेश का कोई महत्व नही।

      दरअसल, आठ फरवरी को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी भोपाल आने वाले है। वे यहां जंबूरी मैदान में किसान सम्मेलन में किसानों को संबोधित करेंगें।इसी को लेकर कृषि मंत्री सचिन यादव और सहकारिता मंत्री गोविंद सिंह आज गुरुवार को सभा स्थल का निरीक्षण करने जम्बूरी मैदान पहुँचे थे। जहां उन्होंने पूरे मैदान का दौरा करने के बाद मीडिया से चर्चा की। जबकी मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को प्रेस से बात करने पर रोक लगा रखी है। केवल सात ही मंत्रियों को मीडिया से बात करने की परमिशन दी गई है, जिसमें ये दोनों मंत्री शामिल नही है।हालांकि इस दौरान जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा भी मौजूद रहे, जिन्हें प्रेस से बात करने की इजाजत है,बावजूद इसके दोनों मंत्रियों ने पत्रकारों से चर्चा की। मंत्रियों का ये बर्ताव अब अपनी ही सरकार पर सवाल खड़े करता हुआ नजर आ रहा है। 

गोविंद सिंह ने बीजेपी पर बोला हमला

इस दौरान मंत्री गोविंद सिंह ने बीजेपी पर भी जमकर हमला बोला। सिंह ने बीजेपी शासनकाल की तुलना की लुटेरे मोहम्मद गजनबी से की।उन्होंने बीजेपी को मोहम्मद गजनबी के गॉडफादर बताया। उन्होंने कहा कि गजनबी तो सोमनाथ मन्दिर लूट कर भाग गया था लेकिन बीजेपी ने हर क्षेत्र मे की लूटपाट की है। ये तो गजनबी के भी गॉडफादर है।

गौरतलब है कि मीडिया में हो रही लगातार बयानबाजी के चलते मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 21 मंत्रियों के प्रेस से चर्चा करने पर रोक लगा दी है। केवल सात मंत्रियों जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा, संस्कृति एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री  विजयलक्ष्मी साधौ, गृह मंत्री बाला बच्चन, उच्च शिक्षा, खेल एवं युवक कल्याण मंत्री जीतू पटवारी, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री सुखदेव पांसे, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री जयवर्धन सिंह एवं वित्त मंत्री तरूण भनोट को प्रेस से चर्चा की परमिशन दी गई। इसके अलावा कोई मंत्री मीडिया से रुबरु नही होंगें। बावजूद इसके आज दो मंत्रियों ने प्रेस से चर्चा की।