मंत्री सारंग का बयान- बुलडोजर की कार्रवाई सही इसे धर्मगुरु त्यौहार से ना जोड़े

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। दिल्ली के शाही ईमाम द्वारा बुलडोजर की कार्यवाही के खिलाफ इस बार ईद नहीं मनाने वाले बयान पर मध्यप्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने पलटवार करते हुए कहा है कि बुलडोजर की कार्रवाई उनके खिलाफ हुई है जिन्होंने दंगा किया है गुंडागर्दी की है माफिया गिरी की है किसी भी धर्मगुरु को किसी त्योहार किसी कार्रवाई से जोड़कर नहीं देखना चाहिए यह कार्रवाई किसी धर्म के खिलाफ नहीं हुई है मुझे अच्छा लगता अगर धर्मपुरी से नसीहत देते पत्थर फेंकने वालों को दंगा करने वालों को बोलते दंगा ना करें इस तरह के बयान से किसी को फायदा नहीं होना सिर्फ नुकसान होना है त्यौहार नहीं मनाया जाए इस तरह की बातें करना वह उनकी खिलाफत करना है अब यह भी देखने को मिलेगा कि ऐसे लोगों की बात समाज कितनी मानते हैं।

यह भी पढ़ें… PM Kisan: 11वीं किस्त पर बड़ी अपडेट, इस दिन खाते में आएंगे 2000! किसान ऐसे चेक अपना स्टेटस

गौरतलब है कि जामा मस्जिद के शाही इमाम ने जहांगीरपुरी में अतिक्रमण हटाए जाने का विरोध किया है। जहांगीरपुरी में बुलडोजर एक्शन पर प्रतिक्रिया देते हुए शाही इमाम ने शुक्रवार को नमाज के बाद कहा कि परिंदों को चोट लगती है तो वो भी चोंच मारते हैं, यहांं तो लोगों के बसे-बसाए घरों पर बुलडोजर पर चला दिए। शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी ने अलविदा की नमाज पर हजारों की संख्या में लोगों को खिताब करते हुए दिल्ली के जहांगीरपुरी और मध्य प्रदेश के खरगोन में हुई हिंसा की घटनाओं का जिक्र किया। उन्होंने बुलडोजर कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि जहांगीरपुरी में जो बुलडोजर चला क्या वह सही था, शाही इमाम ने कहा कि मुसलमान की हालत उस मोर जैसी है जो नाचता है और अपने पैरों का देखते ही रो पड़ता है।