मंत्रियों को जल्द मिलेंगे जिलों के प्रभार, उपचुनाव पर रहेगा फोकस

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
मंत्रिमंडल विस्तार और फिर विभाग वितरण में हुई देरी के बाद अब जिलों के प्रभार को लेकर अब तक फैसला नहीं हो पाया है| कोरोना पॉजिटिव होने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अस्पताल में भर्ती हैं| सूत्रों के मुताबिक अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद सीएम मंत्रियों के प्रभार वाले जिलों का एलान कर देंगे| वर्चुअल मीटिंग में मंत्रियों को सीएम जल्द ही प्रभार देने के संकेत दे चुके हैं|

सूत्रों की मानें तो मंत्रियों के प्रभार के जिलों को लेकर सीएम मंथन कर चुके हैं| जल्द ही सीएम मंत्रियों को उनके जिलों की जिम्मेदारी सौंप देंगे| अभी 14 अगस्त तक मंत्रियों के दौरों पर रोक लगाईं गई है, ऐसे में स्वतंत्रता दिवस के बाद मंत्री अपने प्रभार वाले जिलों में दौरे कर सकेंगे| इसके चलते संभावना है कि 15 अगस्त पहले मंत्रियों को उनके प्रभार वाले जिलों की जिम्मेदारी मिल जायेगी|

किस जिले का कौन प्रभारी मंत्री होगा इसको लेकर कई तरह की चर्चाएं हैं| बताया जा रहा है कि उपचुनाव को देखते हुए जो जहां से चुनाव लड़ रहा है, उसे वही का प्रभार दिया जा सकता है| ऐसी मंत्रियों की भी इच्छा है| प्रभार वाले जिलों के लिए फार्मूला तैयार किया गया है| जिसके जरिए उपचुनाव के मैदान में उतरने वाले अधिकांश मंत्रियों को उनके जिले का ही प्रभाव दिया जाएगा| वही जिन जिलों से दो-दो मंत्री हैं वहाँ उनसे आपस में समन्वय कर फैसला लिया जाएगा|