विधायक भवनों के निर्माण को लेकर अपनों से घिरी सरकार, कांग्रेस विधायक ने किया विरोध

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में विधायकों के विश्राम गृह का मामला गरमाता जा रहा है। लगभग 22 एकड़ जमीन पर पेड़ों को काटकर यह विश्राम गृह बनाया जाना है। सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के विधायक लक्ष्मण सिंह अब इसके विरोध में आ गए हैं। उन्होंने विश्राम गृह के निमार्ण भवनों पर निशाना साधते हुए सोशल मीडिया पर ट्विट किया है। उन्होंने सैकड़ों पेड़ों के काटे जाने का विरोध किया है। 

दरशअल, चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने नवीन विधायक भवनों के निर्माण पर विरोध जताया। उन्होंने ट्विट कर लिखा है कि, ‘भोपाल में नवीन विधायक विश्राम गृह बनाने हेतु जो सैकडों पेड़ काटे जा रहे हैं,मैं स्वयं विधायक होते हुए इसका विरोध करता हूँ।’

दौरतलब है कि एक ओर सरकार पर्यावरण बचाने और पौधे लगाने का संदेश दे रही है नहीं, दश्कों पुराने बसे जंगलों को निर्माण कार्य के नाम पर काट रही है। जिससे शहर का संतुलन भी बिगड़ रहा है। लगातार बढ़ते प्रदूषण का उपाय खोजने में नाकाम सरकारें हरियाली के साथ खिलवाड़ कर रही हैं। राजधानी भोपाल के अरेरा हिल्स स्थित 22 जंगल को खत्म कर विधायकों के लिए रेस्ट हाऊस तैयार किए जा रहे हैं। अब कांग्रेस विधायक ने ही इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कमलनाथ सरकार के सामने अब अपनों से भी निपटने की चुनौती है।