निर्दलीय विधायक ‘शेरा’ ने फिर किया दावा- मंत्री पद का मिला है आश्वासन

mla-shera-claims-I-have-got-the-assurance-of-minister-mp

भोपाल।

चुनाव नतीजों के बाद कांग्रेस में जमकर उथल पुथल मची हुई है। मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाएं के बीच मंत्री पद मिलने का इंतजार कर रहे निर्दलीय विधायक सुरेंद्रसिंह ठाकुर  शेरा भाईय़ा ने फिर बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि मुझे मंत्रिमंडल में शामिल करने का आश्वासन मिला है। देखते हैं कब तक मंत्री पद मिलता है। इससे पहले उन्होंने कहा था कि वह जल्द मंत्री बनेंगें।बता दे कि विधानसभा चुनाव के बाद से ही शेरा मंत्री पद ना मिलने से नाराज चल रहे है, ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि कमलनाथ सरकार विधानसभा के बजट सत्र से पहले निर्दलीय विधायकों को साधने की कोशिश में मंत्रिमंडल विस्तार कर सकती है। जिसमें शेरा को भी मंत्री पद दिया जा सकता है।

दरअसल, लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद रविवार को मुख्यमंत्री निवास पर हुई विधायकों की बैठक में 121 में से 119 विधायकों ने एकजुटता दिखाकर कमलनाथ के नेतृत्व में पांच साल सरकार को समर्थन देने का प्रस्ताव पारित किया। मुख्यमंत्री ने विधायकों को झूठ फैलाने वाले तंत्र से सतर्क रहने की हिदायत भी दी।इस दौरान मीडिया से चर्चा के दौरान निर्दलीय विधायक सुरेंद्रसिंह ठाकुर ने समर्थन वापस लेने की अटकलों पर विराम लगाते हुए कहा कि  मैंने भोपाल में मीडिया को ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। मैंने शुरू से कांग्रेस का समर्थन किया है। अभी भी मेरा पूरा समर्थन कांग्रेस को ही है। मुझे मंत्रिमंडल में शामिल करने का आश्वासन मिला है। देखते हैं कब तक मंत्री पद मिलता है। 

बता दे कि दो दिन पहले ही हार के बाद शेरा ने सरकार की स्थिरता को लेकर बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि प्रदेश की जनता ने लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को नमस्ते कर दिया है। अगर उनके विधानसभा क्षेत्र की जनता उनसे कहेगी तो वह भी कांग्रेस को नमस्ते कर देंगे। इससे पहले भी वह कई बार इस बात के संकेत दे चुके हैं कि अगर उन्हें मंत्रीमंडल में शामिल नहीं किया गया तो वह समर्थन वापस ले सकते हैं। लेकिन रविवार को हुई बैठक के बाद उन्होंने सब बातों को नकार दिया है और मंत्री बनने की बात कही है।

जून में हो सकता है मंत्रिमंडल का विस्तार

प्रदेश की कमलनाथ सरकार को बहुजन समाज पार्टी के दो और समाजवादी पार्टी के एक, कुल तीन और चार निर्दलीय विधायकों ने समर्थन दिया है। चार निर्दलीय विधायकों में से प्रदीप जायसवाल को मंत्री बना दिए जाने से सरकार 118 विधायकों की संख्या के साथ बहुमत में है। सूत्र बताते हैं कि लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद कमलनाथ अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर दो और निर्दलीयों को मंत्रिमंडल में शामिल कर सकते है। इनमें बुरहानपुर के ठाकुर सुरेंद्र सिंह शेरा भैया और सुसनेर के विक्रम सिंह राणा के नाम हैं। मंत्रिमंडल विस्तार संभवत: विधानसभा के बजट सत्र के पहले जून में होने की संभावना है।