प्रदेश में सेटेलाइट से की जाएगी अवैध कटाई की निग���ानी

242
-Monitoring-of-illegal-logging-will-be-done-by-satellite-in-the-state

भोपाल। प्रदेश में पेड़-पौधों की निगरानी के लिए जीआईएस आधारित सेटेलाइट इमेजरी व्यवस्था शुरू की जा रही है। इसके द्वारा सतत मॉनीटरिंग से पौधों का विकास और अवैध कटाई पर नियंत्रण रखा जा सकेगा। मंत्री ने कहा कि विभाग स्थानीय लोगों को रोजगार के अधिकतम संसाधन उपलब्ध कराए। इससे भी अवैध कटाई पर अंकुश लगेगा। 

विभाग की समीक्षा बैठक में वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि विकास कार्यों में राज्य शासन के पास मात्र एक हेक्टेयर तक वन भूमि स्वीकृति के अधिकार हैं, इसे बढ़ाने के लिए केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजेंगे। साथ ही इस आशय का पत्र भारत के अन्य राज्यों को भी भेजा जाएगा। इससे वन क्षेत्र में जरूरी विकास कार्यों में गति आएगी। 

वन विभाग के पास 9 करोड़ से अधिक पौधे तैयार

अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक अनुसंधान एवं विस्तार डॉ. पी.सी. दुबे ने बताया कि वन विभाग के पास 9 करोड़ 21 लाख 9 हजार 282 पौधे उपलब्ध हैं। इस मानसून में 5 करोड़ पौधों की मांग है। माँग के उपरांत बचे हुए पौधे अगले वर्ष तक और मजबूत स्थिति में पहुंच जायेंगे। रोपणियों में पॉलीथिन के स्थान पर रूट ट्रेनर और रासायनिक खाद के बदले वर्मी कम्पोस्ट का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here