मध्य प्रदेश उप चुनाव के लिए बिछने लगी चुनावी बिसात

भोपाल। मुरैना जिले की जौरा विधानसभा सीट को लेकर आगामी दिनों में उपचुनाव होना है। उपचुनाव को लेकर जौरा में चुनाव बिसात बिछने लगी है। भाजपा ने शनिवार को जौरा और कैलारस में किसान सम्मेलन से शुरूआत कर दी है। किसान सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने हुंकार भरी।

मुरैना जिले की जौरा विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक बनवारी लाल शर्मा के निधन के बाद इस सीट पर उपचुनाव होना है। झाबुआ उपचुनाव के बाद कांग्रेस-भाजपा के लिए यह दूसरा उपचुनाव है। हालांकि झाबुआ उपचुनाव में कांग्रेस ने कब्जा जमाया था और कांतिलाल भूरिया ने जीत दर्ज की थी। जौरा उपचुनाव को लेकर सियासी गलियारों में जहां एक ओर प्रत्याशियों के नामों को लेकर अटकलें शुरू हो गई हैं। वहीं भाजपा ने इस सीट पर कब्जा जमाने के लिए अभी से कसरत करना शुरू कर दी है। भाजपा ने शनिवार को जौरा और कैलारस में किसान सम्मेलन कर हुंकार भरी। किसान सम्मेलन में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, मुरैना से सांसद एवं केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर, विधायक भारत सिंह कुशवाह सहित अन्य भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भाग लिया। इस सम्मेलन के जरिए भाजपा ने अपने लिए जमीन तैयार करना शुरू कर दी है। विगत साल हुए विधानसभा चुनाव में जिस तरह से मुरैना में भाजपा का सूपड़ा साफ हुआ था और पार्टी यहां पर अपना खाता भी नहीं खोल पाई थी। जिसके चलते भाजपा उपचुनाव में इस सीट से अपना खाता खोलने के लिए पूरा जोर लगाएगी। वहीं पार्टी की मंशा है कि इस सीट पर कब्जा जमाकर वह प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कामकाज पर सवाल खड़े कर सकती है। भाजपा के लिए यह सीट इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यहां से केन्द्र में नरेन्द्र सिंह तोमर केन्द्रीय मंत्री है, जो कि मुरैना से सांसद भी है। इसलिए भाजपा के लिए यह सीट नाक का बाल है। कहा जा सकता है कि जौरा की हार जीत कांग्रेस भाजपा के लिए भविष्य की राजनीति तय करेगी।

विपक्ष को कुचलने वाली मानसिकता को कुचल देंगे: चौहान
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शुक्रवार मध्यरात्रि ग्वालियर पहुंचे और मुरार स्थित व्हीआईपी सर्किट हाउस में रूके। दूसरे दिन शनिवार को सुबह स्व.राजमाता की पुण्यतिथि पर कटोरा ताल स्थित छत्री में आयोजित पुष्पांजलि सभा में भी पहुंचे और राजमाता को नमन् कर वाय रोड जौरा के लिए रवाना हुए। इस दौरान पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कांग्रेस सरकार के मंत्री सत्ता मद में चूर है।