भोपाल।
कांग्रेस के वरिष्ठ विधायक बिसाहुलाल सिंह के बाद एक हफ्ते से लापता कांग्रेस विधायक रघुराज सिंह कंसाना का भी पता चल गया है। कंसाना का कहना है कि उन्हें किसी ने बंधक नही बनाया।वे भ्रमण पर गए थे।वही उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि किसी को मेरी जरूरत नहीं ।किसी के पास मेरे लिए समय नहीं है, सरकार के पास भी मिलने का समय नही है।

वही उन्होंने लंबे समय से नाराज चल रहे कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में बयान दिया है।कंसाना का कहना है कि कांग्रेस नहीं समझ रही किसकी वजह से सरकार बनी थी ।युवा नेतृत्व और युवा चेहरे को प्रदेश की जनता ने चुना था।लेकिन सरकार उनकी उपेक्षा कर रही है।मैने भी उपेक्षा से दुखी होकर मोबाइल बंद किया था अभी फिलहाल मैं दिल्ली में हूं।हालांकि भोपाल कब आएंगे ये अभी उन्होंने साफ नही किया है, माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ उन्हें मनाने के लिए कुछ कैबिनेट मंत्रियों को दिल्ली भेज सकते है।

कंसाना के सामने आने के बाद सरकार ने राहत की सांस ली है लेकिन अब तक खतरा टला नही है।मंदसौर के सुवासरा से हरदीप डंग का अभी तक पता नही चल सका है। डंग के इस्तीफे को लेकर भी सस्पेंस बना हुआ है।हालांकि बीते दिनों उनके पिता का बयान सामने आया था, जिसमें उन्होंने कांग्रेस से प्रताडित होने की बात कही थी। राज्यसभा चुनाव और बजट सत्र नजदीक है, ऐसे में सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है।इधर मुख्यमंत्री कमलनाथ लगातार विधायकों की खोज में जुटे है, एक के बाद एक बीजेपी नेताओं के घर तलाश ली जा रही है। शनिवार को भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष और अटेर से बीजेपी विधायक डॉ. अरविंद भदौरिया के घर पुलिस जा पहुंची और विधायक के बड़े भाई देवेंद्र भदौरिया को पूछताछ के लिए सीएसपी आनंद राय के कार्यालय में बुलाया गया था और भदौरिया को लेकर पूछताछ की गई थी। इस कार्रवाई के बाद भदौरिया ने स्टेटमेंट जारी किया था और पुलिस-सरकार जबरन दबाव बनाने का आरोप लगाया था। जिसकों लेकर बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने सरकार को चेतावनी भी दी है कि बीजेपी नेताओं को बेवजह परेशान ना करे वरना सड़कों पर उतरेंगे।