Mother-explained-responsibility

भोपाल। काम नहीं करने को लेकर एक मां ने नाबालिग बेटे को घर की जिम्मेदारियां समझाईं। इसके बाद भी जब बेटे ने आवागर्दी नहीं छोड़ी तो उसे काम करने को लेकर फटकारना शुरू किया। जिससे नाराज होकर किशोर ने कल शाम को घर में फांसी लगाकर जान दे दी। मामले में छोला मंदिर पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए मरचुरी में रखवा दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। 

एएसआई अयोध्या प्रसाद के अनुसार मोहित अहिवार पिता स्वर्गीय मलर सिंह अहिरवार (16) निवासी मलर सिंह अहिरवार पांचवी कक्षा तक पढऩे के बाद में पढ़ाई छोड़ चुका था। उसके पिता का वर्ष 2012 में निधन हो चुका है। तब से ही मां कोच फैक्ट्री में मजदूरी कर घर खर्च चलाती हैं। मृतक का छोटा भाई भाई पिछले कुछ महीनों से एक किराना दुकान में नौकरी कर रहा है। जबकि मोहित कोई काम नहीं करता था। इसी बात को लेकर मां उसे जिम्मेदारियों को लेकर समझाइश देती थीं। कई बार काम न करने और फालतू घूमने को लेकर उसे फटकारती थीं। जिससे नाराज होकर मोहित ने कल शाम को घर मे ंफांसी लगाकर जान दे दी। घटना के समय वह घर में अकेला था। उसके मौसेरे भाई विनोद निवासी छोला ने मौत की सूचना कल शाम साढ़े पांच बजे पुलिस को दी थी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।