भोपाल के कोचिंग में नहीं मिले सुरक्षा के इंतजाम, प्रशासन ने जारी किया नोटिस

MP-alert-after-Surat-coaching-fire

भोपाल।  गुजरात के सूरत में शुक्रवार को कोचिंग सेंटर में हुए अग्निकांड के हादसे ने सबको दहला के रख दिया है। इस घटना से सबक लेते हुए मध्यप्रदेश भी सतर्क हो गया है। हादसे के बाद भोपाल की संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने बच्चों की सुरक्षा के लिए शहर में चार टीमें बनाई और उन्हें शहर में संचालित कोचिंग सेंटरों की जानकारी जुटाने के निर्देश दिए थे। संभागयुक्त ने निर्देश पर राजधानी में छापामार कार्रवाई शुरू कर दी। टीम को कई तरही की सुरक्षा के इंतेजाम नहीं मिले हैं। जिसे लेकर कोचिंग सेंटर और हास्टलों को नोटिस जारी कर 15 दिन में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के लिए कहा गया है।

दरअसल, टीम भोपाल की कोचिंग संस्थानों के बारे में ब्यौरा इकट्ठा करेंगे और उन्हें सौंपेंगें। भोपाल के सभी कोचिंग संस्थानों में सुरक्षा मानकों की जांच की जायेगी और इसकी रिपोर्ट 28 मई तक संभाग आयुक्त को सौंपी जायेगी| इसके बाद 15 दिन के भीतर जिन संस्थानों में सुरक्षा सम्बन्धी कमिया पाई जाएंगी उनके खिलाफ 15 दिन में कार्रवाई की जायेगी| इस संबंध में संभागायुक्त ने निर्देश जारी कर दिए है।

इन जानकारियों को होगा जुटाना

-संस्थान में बिल्डिंग सेफ्टी और फायर सेफ्टी की व्यवस्था होना।

-आपदा प्रबंधन की वर्तमान स्थिति और निपटने के उपाय।

-संस्थान में साफ सफाई

-सस्थान में इमरजेंसी गेट की व्यवस्था

-मुख्य गेट पर बैरियर की व्यवस्था

-संस्थान की लिफ्ट की स्थिति

-छात्रावास में आने-जाने का समय निर्धारण

-पीने के पानी और शौचालय की समूचित व्यवस्था

-संस्थानों में पार्किंग की समूचित व्यवस्था

-संस्थान में उचित बिजली की व्यवस्था और बिजली जाने पर उचित व्यवस्था

-सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था

-बच्चों के लिए जरुरी आवश्यकताएं और सुविधाएं

-संस्थानों को संचालन करने की मानक अनुमतिया और निर्देश।

गौरतलब है कि शुक्रवार देऱ शाम डायमंड सिटी के नाम से मशहूर सूरत के सरथना इलाके में एक व्‍यवसायिक इमारत के तीसरे मंजिल पर चल रहे कोचिंग सेंटर में आग लग गई थी जिसमें के करीब 20 स्‍टूडेंट्स की मौत हो गई । विनाशकारी आग से बचने के लिए करीब एक दर्जन स्‍टूडेंट इमारत के तीसरे और चौथे फ्लोर से कूद गए। जिसमें करीब 20  लोग घायल हो गए।हादसे के बाद से पूरे सूरत में मातम नजर आ रहा है वहीं मामले की जांच जारी है। घटना के बाद खबर है कि पुलिस ने अब तक कोचिंग संचालक को गिरफ्तार किया है वहीं तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। वहीं शहर में हर तरह की कोचिंग क्लासेस के संचालन पर फिलहाल रोक लगी दी गई है। क्लासेस अब तभी शुरू होंगी जब उनमें फायर सेफ्टी की व्यवस्था होगी।

भोपाल के कोचिंग में नहीं मिले सुरक्षा के इंतजाम, प्रशासन ने जारी किया नोटिस