मप्र विधानसभा: कमलनाथ होंगे नेता प्रतिपक्ष, कांग्रेस ने मांगा उपाध्यक्ष का पद

The-first-session-of-the-assembly-today

भोपाल। मप्र विधानसभा (mp assembly) का मानसून सत्र (monsoon session) 20 जुलाई से शुरू हो जा रहा है। मानसून सत्र पांच दिनों का होगा। सत्र शुरू होने से पहले विधानसभा अध्यक्ष (speaker of the Assembly) और उपाध्यक्ष के पद को लेकर गहमा गहमी चल रही है। इस बीच विपक्ष की तरफ से नेता प्रतिपक्ष (opposition leader) के चेहरे को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। विधानसभा में कांग्रेस की तरफ से नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी पूर्व सीएम कमलनाथ (Former CM Kamal Nath) ही संभालेंगे।

पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने विपक्ष की तरफ से नेता प्रतिपक्ष के नाम का खुलासा करते हुए कहा है कि विधानसभा मेें पूर्व सीएम कमलनाथ ही नेता प्रतिपक्ष होंगे। उन्होंने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस का चेहरा कमलनाथ है और वही नेता प्रतिपक्ष भी होंगे। इसके साथ ही शर्मा ने विधानसभा में विधानसभा उपाध्यक्ष पद की भी मांग की है। उन्होंने कहा कि भाजपा को विधानसभा उपाध्यक्ष पद कांग्रेस को देना चाहिए। मानसून सत्र में विधायकों के प्रश्न उत्तर न होने पर उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था को जारी रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि सत्र के पहले दिन अधिसूचना में कोरोना और कानून व्यवस्था जैसे विषयों को शामिल किया गया, जबकि पहले दिन श्रद्धांजलि के बाद कार्यवाही स्थगित हो जाता है।

बतातें चले कि पहले से ही कयास लगाए जा रहे थे कि कमलनाथ ही नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी संभालेंगे। उपचुनाव जीत कर वापसी की उम्मीद में बैठी कांग्रेस किसी और नेता को यह जिम्मेदारी नहीं सौंपना चाहती। ऐसे में अपना विश्वास जाहिर करने के लिए इससे पहले सरकार रहते कमलनाथ जिस तरह मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष दोनों जिम्मेदारी संभाल रहे थे, उसी तरह प्रदेश अध्यक्ष के साथ नेता प्रतिपक्ष की भूमिका में भी रहेंगे। वहीं विधानसभा अध्यक्ष के साथ ही उपाध्यक्ष पद के लिए भी भाजपा ने रणनीति तैयार कर रही है। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार की तरह भाजपा भी दोनों पद अपने पास ही रखने की तैयारी में है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here