MP बाेर्ड की गाइड लाइन जारी- अगर ऐसा किया तो निरस्त होगी छात्र की परीक्षा

भोपाल।
बोर्ड परिक्षाएं नजदीक है, इसके पहले माध्यमिक शिक्षा मंडल ने हाई स्कूल और हायर सेकंडरी के लिए एक नई गाइडलाइन जारी की है।इसमें स्पष्ट रूप से कहा गया है कि अगर कोई छात्र नकल प्रकरण बनने के बाद केंद्राध्यक्ष से अभद्रता करता है या फिर किसी प्रकार की धमकी देता है तो उसकी पूरी परीक्षा निरस्त किए जाने की कार्यवाही की जा सकती है।

माध्यमिक शिक्षा मंडल की सचिव कामना आचार्य द्वारा जारी दिशा-निर्देश में कहा गया है कि छात्र से एक विषय में नकल सामग्री मिलने, चिट को निगलने, उत्तर पुस्तिका बदलना, फाड़ना या उत्तर पुस्तिका को लेकर भाग जाने और नकल फॉर्म पर हस्ताक्षर करने से इनकार करने जैसी स्थिति निर्मित होती है तो छात्र की उक्त विषय की परीक्षा निरस्त कर सकते हैं। ऐसे में उत्तरपुस्तिका का मूल्यांकन भी नहीं कराया जाए। वहीं, छात्र द्वारा एक विषय या एक से अधिक विषयों में नकल पर्यवेक्षक, केंद्राध्यक्ष से दुर्व्यवहार करना, छात्र के स्थान पर अन्य किसी व्यक्ति द्वारा परीक्षा देना पाया जाना या किसी से लिखित सहायता लेना पाया जाता है तो उक्त छात्र की पूरी परीक्षा को निरस्त किया जा सकता है।

वहीं, अगर किसी केंद्र पर सामूहिक नकल का प्रकरण बनता है तो कलेक्टर, जिला शिक्षा अधिकारी व अन्य वरिष्ठ अधिकारी, केंद्राध्यक्ष आदि द्वारा नकल प्रकरण प्रमाणित होने पर सभी परीक्षा निरस्त की जा सकती है। अगर किसी विभागीय अफसर द्वारा इस कार्य में सहभागिता पाई जानी है तो आगामी पांच वर्ष के लिए उसे परीक्षा कार्यों से वंचित किया जाना और उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्यवाही की जा सकती है। इसके अलावा अगर मूल्यांकन के दौरान सामूहिक नकल मिलती है तो उत्तर पुस्तिकाओं की जांच के दौरान परीक्षा केंद्र की कम से कम 10 उत्तर पुस्तिकाओं में हल किए गए एक तिहाई उत्तर, एक ही भाषा शैली में, एक ही तरीके से लिखे गए हों, भले ही प्रश्न पत्रों के क्रम बदलकर किए गए हों तो उन्हें सामूहिक नकल श्रेणी में रखा जाएगा। ऐसे छात्रों की सभी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच की जाएगी और उसकी सभी विषयों की परीक्षा व परिणाम निरस्त कर दिया जाएगा।

बता दे कि क्लास 10 की परीक्षाएं 3 मार्च और कक्षा 12 की परीक्षाएं 2 मार्च से शुरु होने की संभावना है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कक्षा 10 की परीक्षाएं 3 मार्च से शुरू होकर 27 मार्च को खत्म हो जाएंगी। वहीं कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाएं 2 मार्च से शुरू होकर 21 मार्च, 2019 को समाप्त हो जाएंगी। अगर पुराने शेड्यूल को देखें तो बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट की घोषणा मई, 2020 को जारी कर दी जाएगी। दोनों ही कक्षाओं के लिए परीक्षा का आयोजन एक शिफ्ट में ही किया जाएगा। एग्जाम सुबह 9 बजे से शुरू होकर दोपहर 12 बजे समाप्त हो जाएगा। हालांकि अभी कक्षा 10 और 12 की बोर्ड परीक्षाओं का टाइम टेबल आधिकारिक वेबसाइट पर जारी होना बाकी है।