विद्यार्थियों को बड़ी राहत देने की तैयारी कर रहा एमपी बोर्ड

mp board

भोपाल।  बोर्ड परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों के लिए बड़ी राहत मिलने जा रही है| मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) इसकी तैयारी कर रहा है| अब तक विद्यार्थी बोर्ड परीक्षा में कम नंबर आने पर सिर्फ पुनर्गणना के लिए आवेदन कर पाते थे। अब बोर्ड छात्रों को उत्तरपुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन की सुविधा भी देने की तैयारी कर रहा है, जिसके बाद अब विद्यार्थी दोनों के पुनर्मूल्यांकन और  पुनर्गणना दोनों के लिए आवेदन कर सकेंगे| 

दरअसल, अब तक किसी विषय में काम अंक आने पर विद्यार्थी रीटोटलिंग के लिए आवेदन कर पाते थे, लेकिन कॉपी दोबारा चेक नहीं की जाती थी| लेकिन सत्र बोर्ड अब 2019-20 से दसवीं व बारहवीं बोर्ड परीक्षा की कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन कराने की प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है, ताकि जिन विद्यार्थियों को बोर्ड से मिले अंकों पर शंक है, वे पुनर्मूल्यांकन करा सकें। कई मामलों में कोर्ट के निर्देश पर बोर्ड की कॉपियों का पुनर्मूल्यांकन हो पाता था।

माशिमं द्वारा दसवीं व बारहवीं बोर्ड परीक्षा के गलत मूल्यांकन का खामियाजा विद्यार्थियों को हर साल भुगतना पड़ता है। पिछले साल प्रदेशभर से 62 हजार विद्यार्थियों ने दसवीं व बारहवीं के रिजल्ट से असंतुष्ट होकर पुनर्गणना के लिए आवेदन किए थे। इसमें दोनों कक्षाओं के 591 विद्यार्थियों के अंक बढ़ गए थे। आवेदन के लिए दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों को परिणाम जारी होने के 15 दिन के भीतर पुनर्गणना, पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन करना होगा|  एक या दो विषयों के लिए यह सुविधा दी जा सकती है|