MP उपचुनाव: युवाओं वोटरों को साधने की तैयारी, यशोधरा राजे सिंधिया का बड़ा ऐलान

yashodhara

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। हर चुनाव में युवा वोटर खास भूमिका में रहता है।यही कारण है कि चुनावी मौसम में प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj Sarkar) को युवाओं की जोर से याद सता रही है। आए दिन युवा वोटरों को साधने की कोशिश में नए नए फैसले लिए जा रहे है। अब प्रदेश की खेल एवं युवा कल्याण मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया (Minister Yashodhara Raje Scindia) ने एक और बड़ा ऐलान किया है, जिसके तहत स्कूल पाठ्यक्रम के एक भाग में हॉकी खेल को अनिवार्य रूप से जोड़ा जायेगा। इसके पहले टीकमगढ़ में मंत्री सिंधिया ने घोषणा की थी कि एनटीपीआई कॉलेज (NTPI College) जल्द ही आईटी यूनिवसिर्टी (IT University) बनेगा। साथ ही आईटीआई कॉलेज में नए कोर्स के साथ साथ इंड्रस्टीज की मांग के अनुरूप कोर्स चलाये जाएंगे, जिससे ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार के अवसर ज्यादा प्राप्त हो सके।सरकार के सारे फैसलों को उपचुनाव (By-election) से जोड़कर देखा जा रहा है।

दरअसल, सोमवार को टी.टी. नगर स्टेडियम में मध्यप्रदेश (Madhyapradesh) में खेलो इंडिया की गतिविधियों की समीक्षा करते हुए मंत्री सिंधिया ने कहा कि स्कूल पाठ्यक्रम के एक भाग में हॉकी खेल को अनिवार्य रूप से जोड़ा जायेगा। इससे हमें ना सिर्फ हॉकी को बढ़ावा देंगे बल्कि प्रदेश के कई स्कूल-कॉलेजों के बेकार पड़े परिसरों का अधोसंरचना विकास कर ‘खेलो इंडिया’ के तहत इसका बेहतरीन उपयोग कर सकते हैं।

मंत्री ने कहा कि खेलो इंडिया के तहत भारत सरकार बजट उपलब्ध कराती है और राज्य सरकार को भूमि देनी होती है। प्रदेश के विभिन्न स्कूल परिसरों का इसमें उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण स्तर पर छिपी खेल प्रतिभाओं का चयन कर उनके खेल-कौशल को निखारने और उन्हें खेलों के पर्याप्त अवसर दिलाने के लिए स्कूल शिक्षा और खेल विभाग समन्वित सहयोग से आगे की कार्य योजना बनाएं। पैरा स्पोटर्स को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए सिंधिया ने कहा कि प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा पैरा खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन कर टेलेन्ट सर्च करें।

ऑनलाइन/ऑफलाइनआयोजित होंगे एथलेटिक्स रिफ्रेशर कोर्स
प्रमुख सचिव, खेल एवं युवा कल्याण पंकज राग ने मध्यप्रदेश में खेलो इंडिया की जानकारी देते हुए बताया कि गाँव, ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तर पर कुल 291 खेल अधोसंरचनाओं की मेपिंग कर चिन्हांकित किया गया है। आगामी एक साल में मेपिंग की हमारी अपनी जीआईएस/एमआईएस विकसित की जायेगी। राज्य स्तरीय खेल मैदान संघों का गठन किया जायेगा। श्री पंकज राग ने बताया कि जल्द ही भारत सरकार को एथलेटिक्स, शूटिंग, फुटबाल और हॉकी के रिफ्रेशर कोर्स के लिए प्रस्ताव भेजा जायेगा। साथ ही ब्लॉक स्मन्वयकों के लिए आनलाइन/आफलाइन एथलेटिक्स रिफ्रेशर कोर्स आयोजित किये जाएंगे।

भारत सरकार को भेजे गए है ये प्रस्ताव
प्रमुख सचिव राग ने जानकारी दी कि राज्य स्तरीय खेलो इंडिया सेन्टर के तहत तीन अलग-अलग प्रस्ताव भारत सरकार को भेजे गए हैं। वृहद् (मेगा) सेन्टर के तहत शूटिंग, हॉकी (पुरूष) तथा रोईंग खेल को शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि जल्द ही प्रदेश में राज्य स्तरीय खेलो इंडिया सेन्टर फॉर शूटिंग का स्‍थापित किया जायेगा। मध्यम (मीडियम) सेन्टर के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है जिसमें उपलब्ध खेल अधोसंरचनाओं के बेहतर उपयोग की बात कही गई है। खेलो इंडिया स्मॉल (छोटे) सेन्टर के लिए 25 जिलों से 14 खेलों के लिए प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजा गया है। पहले चरण में 5 जिले, मुरैना में बैडमिंटन और एथलेटिक्स, सतना में बैडमिंटन और वेटलिफ्टिंग, सीहोर में फुटबाल और वेटलिफ्टिंग, इंदौर में वेटलिफ्टिंग और कुश्ती तथा उज्जैन में शूटिंग और कुश्ती के छोटे सेन्टर शुरू किए जायेंगे।

राज्य स्पोर्टस अकादमियों के लिए इनका चयन
संचालक खेल एवं युवा कल्याण पवन कुमार जैन ने बताया कि खेलो इंडिया योजना के तहत मध्यप्रदेश के कुल 90 खिलाड़ियों (42 पुरूष एवं 48 महिला) को चयनित कर एडवांस ट्रेनिंग दी गई। इसमें तीरंदाजी, एथलेटिक्स, हॉकी पुरूष एवं महिला, रोईंग तथा शूटिंग के 38 खिलाडियों का चयन मध्यप्रदेश राज्य स्पोर्टस अकादमियों के लिए किया गया है।