एमपी के दलित वोट इस कदम के बाद कांग्रेस से होंगे कोसों दूर: नरोत्तम मिश्रा

भोपाल।शरद व्यास।
राज्यसभा सीट (rajysabha election) के लिए मतदान जारी है मध्यप्रदेश (madhypradesh) में इस चुनाव के मायने आगामी उपचुनाव (by election) की दशा और दिशा को भी तय करेंगे हालांकि जिस तरह राज्यसभा में बीजेपी का पलड़ा भारी है ठीक वैसे ही उपचुनाव में भी बीजेपी कांग्रेस(bjp-congress) से कई कदम आगे है लेकिन बावजूद इसके बीजेपी अपना पूरा दम राज्यसभा के साथ उपचुनाव पर भी केंद्रीत किये हुए है वही कांग्रेस अंदरखाने अपने मोहरे जमा रही है लेकिन हर बार की तरह कांग्रेस चूक कर बैठा है और इसका पूरा फायदा उठाने के लिए बीजेपी भी कोई कसर नही छोड़ रही है

गौरतलब कि कांग्रेस ने अपनी सरकार बचाने के समय भी कई दावे किए थे, एक बार फिर राज्यसभा चुनाव को लेकर दावा कर रही है कि आज शाम तक राज्यसभा वोट के बाद चोकाने वाले नतीजे आएंगे, इन सभी दावों को लेकर बीजेपी के गद्दावर नेता और ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दो टूक बात कह कर कांग्रेस को आइना दिख दिया है….डॉ नरोत्तम मिश्रा (Dr. Narottam Mishra) ने कहा कि वो ऐसे ही दावे करते रहे ऐसे करते करते सरकार खो दी ,चोकाने वाले कहा से आएंगे .दो सीटे भारतीय जनता पार्टी जीत रही है और अच्छे वोटों से जीत रहे है कांग्रेस अपनी एक सीट है उसको बचा कर रखे।

मिश्रा कांग्रेस को कहा कि में अभी भी प्रार्थना करूँगा की कांग्रेस के पास अभी भी वक्त है अनुसूचित जाति के व्यक्ति को भेजना चाहिए, यदि राजनीतिक बात भी माने तो ग्वालियर चंबल में 16 सीट पर चुनाव है और इन पर बड़े मतदाता है ओर इस तरह से एक अनुसूचित जाति के व्यक्ति का अपमान नही किया जाना चाहिए हारने के लिए क्यों लड़ाया जब आप को मालूम था कि आप के पास वोट नही है तो नही लड़ाना था

यह शाम तक कि बात है यह पहले भी यही बोल रहे थे कि चोकाने वाले परिणाम आएंगे और हम क्यों चोकाएँगे ,हम दो सीटों के लिए मतदान करवा रहे है और उन पर है जीतेंगे लेकिन उन्होंने ये जो किया कि दलित का अपमान यह चिंता की बात है दिग्विजय सिंह जब जब आते है तब तब दलित विरोधी चेहरा ही सामने लाते है फिर वो चाहे अनुसूचित जनजाति के भान सिंह सोलंकी को मुख्यमंत्री नही बनने दिया फिर भुआ जी (जमाना देवी) को नही बनने दिया और फूलसिंह बरैया को नही बनने दिया जा रहा है यह कांग्रेस का दलित विरोधी चेहरा है