MP : मतगणना में हुई गड़बड़ी तो तुरंत हेलिकाप्टर से पहुंचेगे कमलनाथ

मध्यप्रदेश नगरीय निकाय चुनाव में पहले चरण की मतगणना 17 जुलाई को है और ऐसे में कांग्रेस ने कहा है कि जरा सी भी गड़बड़ी हुई तो पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ लीगल टीम के साथ किसी भी शहर में पहुंच जायेगें इसके लिए बाकायदा हेलीकॉप्टर तैयार रखा गया है

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने कल 17 जुलाई को प्रदेश के 11 नगर निगमों में होने वाली मतगणना के लिए विशेष व्यवस्था की है। मतगणना के दिन कमलनाथ भोपाल में बनाए गए विशेष चुनाव कंट्रोल रूम में बैठकर पूरे प्रदेश की मतगणना पर नजर रखेंगे। इसके साथ ही प्रदेश के प्रमुख नेताओं के साथ मोबाइल पर संवाद के लिए भी मौजूद रहेंगे। मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मीडिया विभाग के अध्यक्ष श्री के के मिश्रा ने यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें… Name Astrology : इन अक्षरों से शुरू होने वाले नाम की लड़कियां हमेशा पार्टनर पर रहती है हावी, कहीं आप भी तो…

मतगणना के दौरान किसी भी शहर में किसी तरह की गड़बड़ी होने की सूचना मिलने पर कमलनाथ अपनी वरिष्ठ अधिवक्ताओं की लीगल टीम के साथ विशेष हेलीकॉप्टर से तत्काल उस शहर में पहुंच जाएंगे। इसके लिए हेलीकॉप्टर भी विशेष रूप से तैयार रहेगा और पूरी लीगल टीम भी नियम कानून कायदे के दस्तावेजों के साथ तैयार रहेगी। कमलनाथ के द्वारा कल के लिए विशेष तौर पर की गई इस व्यवस्था की जानकारी इन सभी नगर निगमों के महापौर प्रत्याशी तथा संबंधित शहर के शहर कांग्रेस अध्यक्ष को दे दी गई है। ध्यान रहे कि मतगणना के लिए हाल ही में कमलनाथ के द्वारा हर नगर के लिए एक पर्यवेक्षक की नियुक्ति की गई है। उसके बाद अब यह एक और विशेष व्यवस्था कर दी गई है ।
कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष के के मिश्रा ने बताया कि  कमलनाथ को विश्वस्त सूत्रों से जानकारी मिली है कि कल की मतगणना के समय सत्ताधारी पार्टी प्रशासन के दुरुपयोग की कोशिश कर सकती है। इस संभावना से भी इनकार नहीं किया जा सकता, क्योंकि मतदान के दौरान भाजपा के नेताओं ने बूथ कैपचरिंग के प्रयास किए और जब कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने इसकी शिकायत की तो उल्टे कांग्रेस के नेताओं पर ही मुकदमा दर्ज कर दिए गए। कमलनाथ पहले ही बता चुके हैं कि भाजपा इस चुनाव में पुलिस पैसा और प्रशासन का इस्तेमाल कर रही है। यह चुनाव सत्य और झूठ के बीच चुनाव है। जनता ने बड़े पैमाने पर कांग्रेस पार्टी को वोट दिया है और वह वह इमानदारी से गिने जा सकें, इसके लिए कमलनाथ स्वयं पूरे मामले की निगरानी कर रहे। कमलनाथ के अलावा बाकी वरिष्ठ नेताओं को पहले ही नगर निगम चुनाव के मतगणना के लिए अलग-अलग शहर में तैनात कर दिया गया है जहां भी मतगणना की प्रक्रिया पर पूरी नजर रखेंगे।