MP News : उमंग सिंघार का सरकार से सवाल,क्यों बंद नहीं हो रहे परिवहन चेक पोस्ट, अमरवाड़ा सीट जीतने का किया दावा, तबादलों पर कही ये बड़ी बात

ट्रांसफर पोस्टिंग करना सरकार का अधिकार है लेकिन सरकार को ये सोचना चाहिए जो भ्रष्ट अधिकारी हैं क्या उन्हें अपने आसपास रखना चाहिए या नहीं,

Atul Saxena
Published on -
Umang

MP News : मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने मीडिया से बात करते हुए एक बार फिर प्रदेश की भाजपा सरकार से कई सवाल किये हैं, उमंग सिंघार ने सवाल किया कि केंद्रीय मंत्री के आदेश के बाद भी आखिर प्रदेश में परिवहन चेक पोस्ट क्यों बंद नहीं हो रहे? उन्होंने अधिकारियों की ट्रांसफर पोस्टिंग पर भी सवाल उठाये।

भ्रष्ट अधिकारियों की ट्रांसफर पोस्टिंग पर सवाल 

उमंग सिंघार ने मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि ट्रांसफर पोस्टिंग करना सरकार का अधिकार है लेकिन सरकार को ये सोचना चाहिए जो भ्रष्ट अधिकारी हैं क्या उन्हें अपने आसपास रखना चाहिए या नहीं, उन्होंने कहा कि अब हम भ्रष्टाचारी अधिकारियों की सूची विधानसभा में जारी करेंगे।

अमरवाड़ा विधानसभा उप चुनाव जीतने का दावा 

अमरवाड़ा सीट पर हो रहे उपचुनाव को लेकर उमंग सिंघार ने कहा कि हमारे अध्यक्ष जीतू पटवारी और कई बड़े नेता वहां मोर्चा सम्भाले हुए हैं, वे पिछले तीन दिनों से अमरवाड़ा में हैं.  कमलनाथ जी, नकुलनाथ जी सहित कई अन्य बड़े नेताओं के दौरे होने हैं, अमरवाड़ा सीट कांग्रेस की है और इसे हम ही जीतेंगे।

परिवहन चेक पोस्ट को लेकर किया ये दावा 

उन्होंने प्रदेश में परिवहन चेक पोस्ट पर हो रहे भ्रष्टाचार के सवाल पर कहा कि जहाँ तक मेरी जानकारी हैं केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने पत्र लिखकर इन्हें बंद करने के निर्देश दिए थे लेकिन फिर भी भाजपा की सरकार अवैध वसूली के लिए इसे चालू रखे हैं आखिर ये चंदा किसके लिए हो रहा है?

भाजपा के दावों पर कही ये बात 

भाजपा के दावों पर जवाब देते हुए उमंग सिंघार ने कहा कि भाजपा केवल चुनाव के समय घोषणाएं करती है उसके बाद घोषणाओं को भूल जाती है, सरकार बने 6 माह से ज्यादा का समय हो गया अब तक लाडली बहना योजना की राशि नहीं बढ़ी, गेहूं और धान के समर्थन मूल्य के वादे का क्या हुआ?


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News