MP News : सिंहस्थ 2028 के लिए सरकार ने केंद्र से मांगा 20,000 करोड़ का पैकेज, बजट को लेकर वित्त मंत्री ने कांग्रेस पर किया पलटवार

वित्त मंत्री ने कहा- कि कांग्रेस के पास कुछ कहने को नहीं है, वो पहले अपनी सरकार का बताये, अभी कोई कमी नहीं है सरकार के पास, जो योजनायें चल रही हैं कोई भी बंद नहीं होगी।

Atul Saxena
Published on -
Jagdish Devda

MP News : मध्य प्रदेश की डॉ मोहन यादव सरकार अपने पहले पूर्ण बजट की तैयारी कर रही है, लगातार बैठकों का दौर जारी है, बजट को जन हितैषी बनाने के लिए विषय विशेषज्ञों से उनके सुझाव लिए जा रहे हैं,  जनता से भी सुझाव लिए जा रहे हैं,  वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा का कहना है किये बजट जनता का जनता के लिए होगा, सर्वस्पर्शी होगा, वित्त मंत्री ने कांग्रेस के खजाना खाली होने के आरोपों पर करारा प्रहार किया।

जनता के हित का होगा मध्य प्रदेश का बजट 

मध्य प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने मीडिया से कहा कि सरकार बजट सत्र की तैयारी कर रही है उन्होंने कहा कि बजट से पहले सरकार कई तरह के कार्यक्रम कर रही है, विषय विशेषज्ञों, व्यापारियों, अलग अलग विभागों से भी राय ली जा रही है, उन्होंने कहा बजट जनता के हित का होगा इसका ध्यान रखा जा रहा है।

हमने सिंहस्थ 2028 के लिए विशेष पैकेज देने का अनुरोध केंद्र सरकार से किया है : देवड़ा 

जगदीश देवड़ा ने कहा कि पीछे दिनों मैं वित्त मंत्रियों की बैठक में शामिल होने दिल्ली गया था, वहां कई विषयों पर बात हुई केन बेतवा लिंक परियोजना सहित बहुत से मुद्दे हमने वहां रखे, हमने सिंहस्थ 2028 के लिए विशेष पैकेज देने का अनुरोध केंद्र सरकार से किया है , हमने अपनी तरफ से अनुरोध किया है कि सिंहस्थ के लिए आधारभूत सुविधाएँ जुटाने के लिए 20 हजार करोड़ रुपए प्रदेश की दिए जाएँ।

कांग्रेस के आरोपों पर किया पलटवार 

मीडिया ने जब कांग्रेस द्वारा सरकार का खजाना खाली होने के आरोपों पर वित्त मंत्री से उनकी प्रतिक्रिया चाही तो उन्होंने पलटवार करते हुए कहा कि कांग्रेस के पास कुछ कहने को नहीं है, वो पहले अपनी सरकार का बताये, अभी कोई कमी नहीं है सरकार के पास, जो योजनायें चल रही हैं कोई भी बंद नहीं होगी।


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News