MP News : नई शराब नीति पर भड़की उमा भारती, कांग्रेस ने दी बड़ी सलाह

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एमपी में शराब बंदी का संकल्प ले चुकी पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Ex CM Uma Bharti) ने आज से प्रदेश में लागू हुई नई शराब नीति (MP New Liquor Policy) के बाद कई ट्वीट किया और अपने इरादे स्पष्ट किये। उन्होंने कहा कि कल से नौ दिन तक नारी शक्ति की पूजा होगी लेकिन हमने नई शराब नीति लागू कर इसमें लोगों को ज्यादा शराब कैसे पिलाई जा सके, अहातों में ज्यादा शराब कैसे परोसी जा सके इस व्यवस्था को निश्चित किया है। उमा भारती के ट्वीट के बाद कांग्रेस(MP Congress) ने उन्हें एक सलाह दी है।

उमा भारती ने नई शराब नीति लागू होने के बाद आज एक के बाद चार ट्वीट किये।  उमा भारती ने पहले ट्वीट में कहा — कल से चैत्र की नवरात्रि है यह नौ दिन नारी शक्ति की पूजा का पर्व है। उन्होंने दूसरे ट्वीट में कहा – आज हमने मध्य प्रदेश में नई शराब नीति लागू की है इसमें लोगों को ज्यादा शराब कैसे पिलाई जा सके, अहातों में ज्यादा शराब कैसे परोसी जा सके इस व्यवस्था को निश्चित किया है। मध्य प्रदेश (MP News) में जिसका सर्वत्र नारी शक्ति द्वारा विरोध हो रहा है।

ये भी पढ़ें – बिजली की बढ़ी दरों पर ऊर्जा मंत्री का बड़ा बयान, अटल गृह ज्योति योजना को लेकर कही ये बात

तीसरे ट्वीट में उमा ने कहा – छत्तीसगढ़ एवं दिल्ली की भारतीय जनता पार्टी की राज्य की इकाइयां इसी प्रकार की शराब की नीति के विरोध में सड़क पर उतर आए हैं। आखिरी ट्वीट में उमा भारती ने कहा- मैं मध्य प्रदेश की महिलाओं एवं बेटियों के साथ हूं, शराब खोरी के शिकार हो गए बेटों के लिए भी चिंतित हूं, उनकी इज्जत एवं जान पर खेलकर हम राजस्व कमा रहे हैं इस पर शर्मिंदा भी हूं।

ये भी पढ़ें – EPF-PPF-NPS सहित इन योजनाओं पर सरकार का बड़ा फैसला, जाने बड़ी अपडेट, अप्रैल में मिलेगा लाभ

पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के ट्वीट के बाद कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ( Congress State Spokesperson Narendra Saluja) सामने आये। उन्होंने उमा भारती के ट्वीट को टैग करते हुए ट्वीट किया और उमा भारती को सलाह दी।  नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट किया – उमा जी, आपकी सारे बातें सही है लेकिन सिर्फ़ एक दिन पत्थर फेंकने से काम नहीं चलने वाला है। विरोध में सड़कों पर उतरना होगा। मामाजी की सरकार को बहन-बेटियों की कोई चिंता नहीं उन्हें तो बस राजस्व की ही चिंता है।

ये भी पढ़ें – केन्द्र का मध्य प्रदेश को तोहफा, इस योजना के लिए 14 करोड़ रुपये से ज्यादा किए जारी